ताज़ा खबर
 

IRCTC: राजधानी, शताब्दी अैर दूरंतो ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम की होगी जांच

IRCTC: संसद की लोक लेखा समिति (पीएसी) ने राजधानी, शताब्दी अैर दूरंतो ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम की पड़ताल करने का फैसला किया है।

Author नई दिल्ली | September 22, 2018 10:56 AM
मुंबई से नई दिल्‍ली जाने वाली राजधानी एक्‍सप्रेस का एक कोच। (Photo: Express Archive)

IRCTC: संसद की लोक लेखा समिति (पीएसी) ने राजधानी, शताब्दी अैर दूरंतो ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम की पड़ताल करने का फैसला किया है। लोकसभा बुलेटिन के अनुसार वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता वाली समिति रेल भूमि विकास प्राधिकरण द्वारा वाणिज्यिक उपयोग के लिए रेल भूमि के विकास को भी देखेगी। समिति ने अध्ययन एवं पड़ताल के लिए भारतीय वायुसेना की अभियानगत तैयारियों और भारतीय नौसेना के अधिकारियों के प्रशिक्षण सहित कई विषयों का चयन किया है। लोकसभा सचिवालय के एक अन्य बुलेटिन के अनुसार पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र को रक्षा मामलों से संबंधित संसद की स्थाई समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उन्होंने उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी की जगह यह जिम्मेदारी संभाली है। अन्य स्थाई समितियों के अध्यक्षों-वीरप्पा मोइली (वित्त), पी चिदंबरम (गृह), शशि थरूर (विदेश मंत्रालय) को एक और कार्यकाल दिया गया है।

गौरतलब है कि करीब दो साल पहले मोदी सरकार ने विमान किराये की तरह प्रीमियम ट्रेनों में भी फ्लेक्सी किराया लागू किया था। चुनावी वर्ष को देखते हुए अब रेल मंत्रालय इस फ्लेक्सी किराये में राहत देने की तैयारी में है। इस सिस्टम के तहत भारतीय रेल 142 में से 40 ट्रेनों से फ्लेक्सी फेयर खत्म कर सकता है।

रेलवे यह भी विचार कर रहा है कि बाकी 102 ट्रेनों में सफर से करीब चार दिनों पहले से सीटें बुक करने पर यात्रियों को 50 फीसदी तक की छूट दी जाए। रेलवे इसके अलावा उन ट्रेनों में ग्रेडवार डिस्काउंट भी देगा, जिनमें 60 फीसदी से कम सीटें बुक होती हैं। रेल यात्रियों को यहां 20 फीसदी तक की छूट मिल सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिन ट्रेनों में 50 फीसदी से कम सीटें बुक होती हैं, उनसे फ्लेक्सी फेयर सिस्टम का प्लान खत्म होगा। ‘

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App