ताज़ा खबर
 

13 दिन में 40 लाख से ज्‍यादा लोगों ने चुनी रेलवे की बीमा योजना, सिर्फ 92 पैसे देकर मिलेगा 10 लाख तक का बीमा

यह बीमा योजना केवल कंफर्म और आरएसी टिकट्स पर ही उपलब्‍ध है।

गौरतलब है कि बजट के दौरान रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने अपने रेल बजट भाषण में घोषणा की थी कि रेलवे यात्रियों को वैकल्पिक यात्रा बीमा कवर की सुविधा उपलब्ध कराएगी। यह नई सुविधा सभी यात्रियों को उपलब्ध होगी। उपनगरीय ट्रेनों पर यह सुविधा नहीं मिलेगी। किसी भी श्रेणी में यह सुविधा उपलब्ध होगी। इसकी शुरूआत परीक्षण के आधार पर की जाएगी।

भारतीय रेलवे की अपने यात्रियों को बीमा मुहैया कराने की योजना खासी सफल होती दिख रही है। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने रेल बजट 2016 पेश करते समय इस योजना की घोषणा की थी। मंगलवार को सुरेश प्रभु ने ट्विटर पर लिखा- ”नई बीमा योजना चुनने वाले लोगों की संख्‍या 40 लाख पार कर गई है। योजना बेहद सफल रही! यात्रियों की बेहतरी के लिए उठाए गए कदमों में से एक।” प्रभु ने रेल बजट में कहा था कि रेलवे ऑनलाइन बुकिंग के समय यात्रियों को वैकल्पिक यात्रा बीमा की सुविधा देगा। रेलवे द्वारा दिया जाने वाला बीमा कवर 10 लाख रुपए तक का है, जिसका प्र‍ीमियम सिर्फ 92 पैसे है। कुछ रिपोर्ट्स में तो यहां तक कहा गया कि यह दुनिया की सबसे सस्‍ती रेल यात्रा योजना है। इस योजना के तहत यात्री को इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्‍म कॉर्पोरेशन (IRCTC) की वेबसाइट से टिकट बुक करने समय बीमा कवर चुनने का विकल्‍प मिलता है। अगर यात्री बीमा को चुनता है तो प्रीमियम की रकम (92 पैसे) टिकट के दाम में जुड़ जाती है। इसके बाद बीमा कंपनी उपभोक्‍ता को एक एसएमएस या ईमेल भेजती है जिसमें पॉलिसी नंबर और एक लिंक होता है। इस लिंक पर विजिट करते नॉमिनेशन से जुड़ी जानकारी अपडेट की जा सकती है। इस बीमा में मृत्‍यु या पूर्ण विकलांगता पर 10 लाख रुपए तक कवर मिलता है। आंश‍िक विकलागंता की स्थिति में साढ़े सात लाख रुपए, अस्‍पताल के खर्च के लिए 2 लाख रुपए तक का कवर दिया जाता है। यह सुचिधा उन्‍हीं के लिए है जो IRCTC के जरिए ई-टिकट बुक करते हैं। इसमें उपनगरीय ट्रेनें (ईएमयू, डेमू, लोकल वगैरह) शामिल नहीं हैं।

यह बीमा योजना केवल कंफर्म और आरएसी टिकट्स पर ही उपलब्‍ध है। इस योजना के तहत 5 साल से कम के बच्‍चों और विदेशी नागरिकों को छोड़कर बाकी सभी यात्री बीमा का फायदा उठा सकते हैं। हालांकि टिकट कैंसिल होने की स्थिति में इस प्रीमियम का कोई रिफंड नहीं दिया जाएगा। नीलामी प्रक्रिया के तहत चुनी गईं बीमा कंपनियों- ICICI लॉम्‍बार्ड जनरल इंश्‍यारेंस, रॉयल सुंदरम जनरल इंश्‍योरेंस और श्रीराम जनरल इंश्‍योरेंस के साथ मिलकर IRCTC ने यह योजना पायलट प्रोजेक्‍ट के तौर पर शुरू की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App