ताज़ा खबर
 

इस विभाग के कर्मचारियों को 10-10 हजार का ‘खादी बोनस’, 2 महीने में करना होगा खर्च

खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने शनिवार को कहा कि खादी वाउचर की कीमत नकदी मिलने वाले बोनस से 35 फीसदी अधिक होगी, जिससे ओएनजीसी के 35,299 कर्मचारियों को फायदा होगा।

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी)

तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ओएनजीसी) के कर्मचारियों को अब सालाना बोनस खादी वाउचर के रूप में मिलेगा, जिससे वे खादी के कपड़े खरीदेंगे। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने शनिवार को कहा कि खादी वाउचर की कीमत नकदी मिलने वाले बोनस से 35 फीसदी अधिक होगी, जिससे ओएनजीसी के 35,299 कर्मचारियों को फायदा होगा। योजना की व्याख्या करते हुए उन्होंने कहा कि ओएनजीसी अपने कर्मचारियों को खादी वाउचर अतिरिक्त 35 फीसदी प्रोत्साहन राशि के साथ देगा।

सक्सेना ने कहा, “34,236 नियमित कर्मचारियों को 10-10 हजार रुपये का खादी वाउचर मिलेगा, जबकि अन्य 1,063 अनियमित कर्मचारियों को पांच-पांच हजार रुपये का खादी वाउचर मिलेगा, जो दो महीने के लिए मान्य होगा। इस पहल से ओएनजीसी से केवीआईसी को 35 करोड़ रुपये की कमाई होगी।” उन्होंने कहा कि इसके कारण केवीआईसी की कुल बिक्री 47 करोड़ रुपये होगी, जिनमें से 22 फीसदी यानी 10 करोड़ रुपये वेतन मद में जाएंगे, जबकि पांच फीसदी उन कारीगरों को मिलेगा, जो इस विशेष विपणन पहल से जुड़ेंगे।

केवीआईसी ओएनजीसी कर्मचारियों को उनके ठिकाने पर अपनी उम्दा गुणवत्ता के उत्पादों की बिक्री करेगा और इसके लिए ओएनजीसी परिसरों में 16 विशेष प्रदर्शनियां लगाई जाएंगी। इस तरह की पहली प्रदर्शनी सोमवार से महाराष्ट्र व गुजरात में शुरू होगी और 14 फरवरी तक चलेगी। आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी, त्रिपुरा, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, झारखंड तथा गोवा में भी यह प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

गौरतलब है कि खादी ग्राम उद्योग आयोग (KVIC) द्वारा साल 2017 के लिए प्रकाशित कैलेंडर और टेबल डायरी पर इस बार महात्मा गांधी की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो लगी हुई है। इस बात की जानकारी सामने आने के बाद से विपक्षी पार्टियां लगातार मोदी और केंद्र सरकार पर निशाना साध रही है। गांधी जी की फोट हटाए जाने पर आपत्ति जताते हुए ट्विटर पर लिखा-  ”गांधी बनने के लिए कई जन्मों की तपस्या करनी पड़ती है। चरख़ा कातने की ऐक्टिंग करने से कोई गांधी नहीं बन जाता, बल्कि उपहास का पात्र बनता है।’ KVIC प्रबंधन के इस फैसले से कर्मचारी भी नाराज हैं, बुधवार को उन्‍होंने विले-पार्ले मुख्‍यालय में शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने का फैसला किया और भोजनावकाश के समय मुंह पर काली पट्टी बांधी। वहीं, आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने बिना नाम लिए कहा-“जिसके शासन में हजारों लोग मारे गए, जिसकी विचारधारा सत्य और अहिंसा के पुजारी बापू से ठीक उलट है, आज वह आदमी, बापू का स्थान ले रहा है।”

वीडियो: खादी ग्राम उद्योग के कैलेंडर में महात्मा गांधी की जगह पीएम मोदी की तस्वीर; केजरीवाल और तुषार गांधी ने किया विरोध

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अब नए फीचर्स के साथ आया पैनकार्ड, सिर्फ इन्हीं लोगों को मिलेगा, ऐसे करें घर बैठे अप्लाई
2 नोटबंदी: ‘अपमानित’ महसूस कर रहा RBI स्टाफ, गवर्नर को कहा- इतना नुकसान पहुंचा कि दुरूस्त करना मुश्किल
3 बीएसई ला रहा है अपना आईपीओ, ₹1500 करोड़ जुटाने का लक्ष्य