ताज़ा खबर
 

आंतरिक और बाहरी फ्रॉड के जरिए बुरी तरह प्रभावित हुआ है एक तिहाई भारतीय कारोबारः रिपोर्ट

धोखाधड़ी की सबसे अधिक घटना पिछले 12 महीनों में लगभग 41 प्रतिशत भारतीय फर्मों के साथ डेटा चोरी की थी, जबकि वैश्विक औसत 29 प्रतिशत था। क्रोल का कहना है कि आगे चलकर भारत के लिए प्रमुख चिंता का विषय डाटा चोरी (84 प्रतिशत), प्रतिष्ठा को नुकसान (81 प्रतिशत) और प्रतिकूल सोशल मीडिया (81 प्रतिशत) जैसी गतिविधियां हैं।

fraudप्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

पिछले एक साल के दौरान एक तिहाई भारतीय कारोबार आंतरिक और बाहरी फ्रॉड के जरिए बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इसमें सबसे ज्यादा फ्रॉड डाटा की चोरी है। एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। क्रोल्स एनुएल ग्लोबल फ्रॉड एंड रिस्क रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया है। कहा गया है कि 33 प्रतिशत भारतीय कंपनियों की प्रतिष्ठा पर इसकी वजह से चोट पहुंची है जबकि ग्लोबल स्तर पर यह आंकड़ा 29 प्रतिशत का है।

धोखाधड़ी की सबसे अधिक घटना पिछले 12 महीनों में लगभग 41 प्रतिशत भारतीय फर्मों के साथ डेटा चोरी की थी, जबकि वैश्विक औसत 29 प्रतिशत था। क्रोल का कहना है कि आगे चलकर भारत के लिए प्रमुख चिंता का विषय डाटा चोरी (84 प्रतिशत), प्रतिष्ठा को नुकसान (81 प्रतिशत) और प्रतिकूल सोशल मीडिया (81 प्रतिशत) जैसी गतिविधियां हैं।

दक्षिण एशिया के प्रमुख और बिजनेस इंटेलीजेंस एंड इंवेस्टिगेशंस प्रैक्टिस के प्रबंध निदेशक तरुण भाटिया ने कहा कि हम मानते हैं कि भारतीय कॉरपोरेट्स द्वारा किए गए उचित परिश्रम के स्तर में सुधार हो रहा है, लेकिन वैश्विक स्तर पर तुलनात्मक रूप से यह बुनियादी आवश्यकता से कम है।

भाटिया ने आगे कहा कि एक सांस्कृतिक बदलाव हुआ है क्योंकि भारत में कंपनियों द्वारा धोखाधड़ी के खुलासे की घटनाएं बढ़ी हैं। हालांकि यह एक स्वागतयोग्य बदलाव है जो कि जोखिम की स्थिति में सुधार के लिए स्थायी समाधान, बेहतर तंत्र, ग्रेटर एनफोर्समेंट और गवर्नेंस आर्किटेक्चर की आवश्यकता को भी सामने लाता है।

खास बात यह है कि इस रिपोर्ट में सोशल मीडिया को कंपनियों के लिए सबसे बड़ी खतरे के तौर पर पेश किया गया है। कहा गया है कि इसके जरिए फ्रॉड का रिस्क लगातार बढ़ रहा है। क्रोल्स एनुएल ग्लोबल फ्रॉड एंड रिस्क रिपोर्ट वर्तमान वैश्विक जोखिम से जुड़े परिदृश्य की जांच, वैश्विक कंपनियों के सामने सबसे बड़े जोखिमों को समझाती है और कारोबार से जुड़े दैनिक खतरों को रोकने और पता लगाने का जिक्र करती है।

Next Stories
1 7th Pay Commission: त्यौहार के मौसम में इन कर्मियों को भत्ते में मिलेंगे 5300 रुपए, पेंशन में होगा इजाफा!
2 SBI: मिनिमम बैलेंस पर आज से लगेगा इतना चार्ज, जानें फ्री CASH WITHDRAWL की सीमा
3 ‘कड़वी सच्चाई सुनने की आदत डालें’, अर्थव्यवस्था पर बीजेपी सांसद स्वामी ने पीएम मोदी को दी सलाह
ये पढ़ा क्या?
X