ताज़ा खबर
 

रिलायंस रिटेल को लेकर भी जियो जैसी प्लानिंग में मुकेश अंबानी, वॉलमार्ट कर सकती है बड़ा निवेश

रिलायंस रिटेल में वॉलमार्ट से निवेश हासिल कर मुकेश अंबानी कारोबार का विस्तार करने की तैयारी में हैं ताकि रिटेल सेक्टर में सीधे तौर पर अमेजॉन और डीमार्ट जैसी कंपनियों को कड़ी टक्कर दे सकें।

Author Edited By यतेंद्र पूनिया नई दिल्ली | Updated: September 1, 2020 10:53 AM
mukesh ambaniरिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी

अपनी टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जियो में बड़े पैमाने पर निवेश हासिल करने के बाद मुकेश अंबानी अब रिलायंस रिटेल को लेकर भी बड़ी तैयारी में जुटे हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिग्गज रिटेल कंपनी वॉलमार्ट की ओर से रिलायंस रिटेल में इन्वेस्टमेंट किया जा सकता है। Morning Context की एक रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज की इस सिलसिले में वॉलमार्ट से बातचीत भी चल रही है। जानकारों के मुताबिक रिलायंस रिटेल में वॉलमार्ट से निवेश हासिल कर मुकेश अंबानी कारोबार का विस्तार करने की तैयारी में हैं ताकि रिटेल सेक्टर में सीधे तौर पर अमेजॉन और डीमार्ट जैसी कंपनियों को कड़ी टक्कर दे सकें।

इससे पहले शनिवार को ही रिलायंस रिटेल वेंचर्स ने किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप से डील करते हुए 24,713 करोड रुपए में फ्यूचर रिटेल को खरीद लिया था। फ्यूचर रिटेल के इस अधिग्रहण के जरिए रिलायंस अमेजॉन और फ्लिपकार्ट के साथ मुकाबले की तैयारी में है। रिलायंस ने कुछ समय पहले ही 200 शहरों में जियो मार्ट खोले हैं और तेजी से विस्तार भी हो रहा है। कुछ हफ्तों में ही यह एक दिन में औसतन 2,50,000 ऑर्डर पा रहा है। अप्रैल के बाद से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने जियो प्लेटफॉर्म यूनिट के लगभग 33% शेयर बेच दिए हैं और फेसबुक, गूगल जैसे निवेशकों से लगभग 1,52,056 करोड़ जुटाए हैं।

फ्यूचर ग्रुप के साथ हाल ही में हुई डील ने रिलायंस रिटेल के बिजनेस को काफी हद तक बढ़ा दिया है और वह अब भारत का सबसे बड़ा रिटेलर है। Goldman Sachs का मानना है EBITDA के पिछले चार सालों में दो गुना होने के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज इसे टेलिकॉम और रिटेल क्षेत्र में कंज्यूमर बिजनेस के तौर पर 2025 तक दोबारा दोगुना कर सकती है क्योंकि रिलायंस के यह दोनों बिजनेस मजबूती से ग्रोथ कर रहे हैं। Goldman Sachs के विशेषज्ञों का मानना है रिलायंस का बिजनेस उस स्तर पर पहुंच गया है, जहां पर प्रतिद्वंदी चुनौती देने के बजाय सहयोग देने पर विचार कर रहे हैं। यही कारण है कि रिटेल बिजनेस का बड़ा प्लेयर वॉलमार्ट रिलायंस रिटेल में शेयर खरीदने पर विचार कर रहा है।

बिग बाजार जैसे ब्रांड्स से बढ़ेगी रिलायंस की पैठ: फ्यूचर रिटेल के बिजनेस को खरीदने के बाद अब बिग बाजार, ईजी डे, फैशन ऐट बिग बाजार जैसे बड़े ब्रांड अब रिलायंस रिटेल का हिस्सा हैं। सालों से रिटेल मार्केट में छाए इन ब्रांड्स के जरिए रिलायंस को बाजार में तेजी से हिस्सेदारी बढ़ाने में मदद मिलेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आज से बदल गए ये 5 जरूरी नियम, जानें- आपकी जेब और रोजमर्रा की जिंदगी पर होगा क्या असर
2 कोरोना से पहले ही पांच साल में 50 फीसदी कम हो गई थी हमारी जीडीपी, 8 से 4.2 पर आ गया था आंकड़ा
3 प्रणब मुखर्जी को 1984 में मिला था दुनिया के सबसे अच्छे वित्त मंत्री का खिताब, उदारीकरण से पहले और बाद में दो बार संभाली थी जिम्मेदारी
ये पढ़ा क्या?
X