ताज़ा खबर
 

नोबेल विजेता अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने मोदी सरकार के कोरोना पैकेज पर उठाए सवाल, कहा- गरीब के लिए 500 रुपये कुछ नहीं

नोबेल विजेता अर्थशास्त्री ने कहा, 'इस पैकेज से ऐसा लगता है कि जैसे संकट कुछ सप्ताह का ही है। भारत के गरीबों की ही बात करें तो 500 रुपये कुछ भी नहीं है। यह ठीक नहीं है।'

कोरोना पैकेज पर अभिजीत बनर्जी ने उठाए सवाल

नोबेल विजेता अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने कोरोना के संकट से निपटने के लिए मोदी सरकार की ओर से जारी किए गए 1.7 लाख करोड़ रुपये के फंड को नाकाफी बताया है। भारतीय मूल के अर्थशास्त्री ने कहा कि इस पैकेज से ऐसा लगता है कि सरकार का अनुमान है कि यह संकट कुछ सप्ताह में खत्म हो जाएगा। हालांकि यह संकट कुछ दिनों का नहीं है और लंबा चल सकता है। सीएनबीसी टीवी-18 न्यूज चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘इस पैकेज से ऐसा लगता है कि जैसे संकट कुछ सप्ताह का ही है। भारत के गरीबों की ही बात करें तो 500 रुपये कुछ भी नहीं है। यह ठीक नहीं है।’

उन्होंने कहा कि सरकार को कोरोना से निपटने के लिए पहले ही प्रयास शुरू करने की जरूरत थी। बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बीते सप्ताह 1.7 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान करते हुए गरीबों, महिलाओं, श्रमिकों और किसानों के लिए कई योजनाओं की घोषणा की थी। इसके तहत खाद्य सुरक्षा दी गई है। इसके अलावा कैश ट्रांसफर भी किया जाएगा। सरकार ने जनधन योजना के तहत खाता खुलवाने वाली 20 करोड़ महिलाओं के अकाउंट में जून तक 500 रुपये प्रति महीने जारी करने का फैसला लिया है। यही नहीं उज्ज्वला स्कीम के तहत जून तक मुफ्त गैस सिलेंडर भी दिए जाएंगे।

सरकार को भ्रमित करने वाले बयानों से बचना चाहिए: सरकार ने कहा था कि कोरोना के लॉकडाउन के बीच भी जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। अभिजीत बनर्जी ने यह भी कहा कि उसे लॉकडाउन को भ्रमित करने वाले बयान नहीं देने चाहिए। यह आइडिया की दुकानें खुली रहेंगी और कोई बाहर नहीं जा सकता, एक तरह का भ्रम पैदा करने वाली बात है। उन्होंने कहा कि इसी के चलते पुलिस भ्रमित थी और कई जगहों पर वह दुकानों को बंद करती दिखाई दी। इसके अलावा कई अन्य घोषणाओं में भी स्पष्टता का अभाव था। गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को रात 8 बजे 25 मार्च से 14 अप्रैल के दौरान 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था। भारत में अब तक कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या 1,500 को पार कर चुकी है और 45 लोगों की मौत हो चुकी है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Next Stories
1 अजीम प्रेमजी ने कोरोना संकट के लिए किया 1,125 करोड़ रुपये दान करने का ऐलान, पीएम केयर फंड में नहीं करेंगे जमा, खुद खर्च करेगा विप्रो फाउंडेशन
2 आज से नहीं रहे इलाहाबाद बैंक, सिंडिकेट बैंक, ओरिएंटल बैंक समेत ये बैंक, 10 मिलकर हुए 4, जानें- देश की बैंकिंग व्यवस्था में हुए क्या बदलाव
3 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के रिटायरमेंट का लॉकडाउन में क्या होगा? जानें- मोदी सरकार ने दिया क्या जवाब
ये पढ़ा क्या?
X