ताज़ा खबर
 

2017 से JEE रैंकिंग में 12वीं के अंकों को नहीं दिया जाएगा वेटेज

अगले साल से इंजीनियरिंग अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज में दाखिले के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) में रैंकिंग निर्धारण में 12वीं कक्षा के अंक निर्धारक तत्व नहीं होंगे।

Author नई दिल्ली | April 8, 2016 8:00 AM
(File Photo)

अगले साल से इंजीनियरिंग अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज में दाखिले के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) में रैंकिंग निर्धारण में 12वीं कक्षा के अंक निर्धारक तत्व नहीं होंगे। यानी अगले वर्ष से जेईई रैकिंग में 12वीं कक्षा में आए नंबरों का कोई रोल नहीं होगा।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा कि आईआईटी परिषद द्वारा गठित एक समिति द्वारा जेईई पैटर्न में बदलावों की सिफारिश सौंपे जाने के बाद यह फैसला लिया गया है। इन सिफारिशों को व्यापक परामर्श के लिए लोगों के बीच रखा गया था।

एक अधिकारी ने बताया, ‘‘अशोक मिश्रा समिति की रिपोर्ट की छानबीन और जन प्रतिक्रिया के बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 2017 के लिए जीईई पैटर्न में कुछ बदलावों का फैसला किया है। जेईई में रैंकिंग के लिए 12वीं कक्षा में आए अंकों को 40 प्रतिशत वेटेज देने के सिस्टम को हटा दिया जाएगा। ’’

मंत्रालय ने साफ किया है कि आगे भी इस परीक्षा में बैठने के लिए छात्र को 12वीं में कम से कम 75 फीसदी अंक हासिल करने होंगे। या फिर इसमें वही छात्र बैठ सकेंगे जिनका स्थान संबंधित परीक्षा बोर्ड के टॉप 20 परसेंटाइल में होगा। अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्रों के लिए न्यूनतम अंक 65 फीसदी होंगे। परीक्षा की बाकी चीजें वैसी ही रहेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X