ताज़ा खबर
 

मजदूर के अकाउंट में मिले 1 करोड़ रुपए, PM जन धन योजना के खातों के जरिए सफेद हो रहा काला धन!

RBI ने चेताया है कि एनडीए सरकार की प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोल गए ढेरों बैंक खाते इसकी चपेट में आ सकते हैं।

Author नई दिल्‍ली | July 21, 2016 8:49 AM
अगर ऐसे बड़े कर चोरों पर लगाम नहीं लगाया गया तो देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह हिल सकती है।

एक दैनिक मजदूर के खाली पड़े बैंक अकाउंट के इस्‍तेमाल 1 करोड़ रुपए तक के धन को ट्रांसफर करने के लिए किया जा रहा था। आयकर अधिकारियों की अचानक इस खाते पर नजर पड़ी तो वे चौंक गए। चिंता की बात यह है कि मामले का पता तब चला जब आयकर अधिकारियों ने पंजाब के मजदूर को नोटिस भेजा, जिसे इस लेन-देन के बारे में कोई खबर ही नहीं है। इस मामले के सामने आने के बाद, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सरकारी और राज्‍य के मालिकाना हक वाले बैंकों को money muling के खतरों के प्रति आगाह किया है। RBI ने चेताया है कि एनडीए सरकार की प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोल गए ढेरों बैंक खाते इसकी चपेट में आ सकते हैं।

कर्जदाताओं को बैंक के सिस्‍टम और इंक्रीमेंटल प्रोसेसेस की विफलता से अवगत करा दिया गया है। उन्‍हें यह भी हिदायत दी गई है कि वे काइट फ्लायर्स और पोंजी स्‍कीम चलाने वालों पर नजर रखें। Money mule दरअसल ऐसे पीड़‍ितों के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है जिनके बैंक अकाउंट के जरिए अवैध पैसा इधर-उधर किया जाता है। फर्जीवाड़ा करने वाले ग्राहकों को ईमेल, चैटरूम, जॉब वेबसाइट्स और ब्‍लॉग्‍स पर संपर्क करते हैं और उन्‍हें अपने बैंक अकांउट में कुछ कमीशन देकर पैसा मंगाने के लिए तैयार करते हैं।

READ ALSO: संसद में ‘सोते’ राहुल गांधी की हुई खिंचाई, सोशल मीडिया ने दिया Sleeping Beauty का खिताब

अवैध पैसा money mule के अकाउंट में जमा कर दिया जाता है, जिसे पैसा किसी और money mule के अकाउंट में ट्रांफसर करना होता है। इससे एक चेन बन जाती है और आखिर में पैसा असली मालिक तक पहुंचता है। जब ऐसे किसी फर्जीवाड़े की रिपोर्ट होती है तो money mule पुलिस की जांच में निशाना बन जाते हैं, जैसा पंजाब‍ के मजदूर के साथ हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App