ताज़ा खबर
 

50,000 रुपये में लॉन्च, जानें कैसी है New 2018 Honda Activa i

होंडा ने भारतीय दुपहिया बाजार में कीमतों में मामूली इजाफा कर नई '2018 एक्टिवा आई' उतार दी है। इसकी एक्स शोरूम (दिल्ली) कीमत 50,010 रुपये रखी गई है। एक्टिवा 125 के मुकाबले एक्टिवा आई वर्जन छोटा, और कम पावरफुल है और बिक्री के मामले में भी पीछे है।

2018 होंडा एक्टिवा आई पांच रंगों में उपलब्ध होगी।

होंडा ने भारतीय दुपहिया बाजार में कीमतों में मामूली इजाफा कर नई ‘2018 एक्टिवा आई’ उतार दी है। इसकी एक्स शोरूम (दिल्ली) कीमत 50,010 रुपये रखी गई है। एक्टिवा 125 के मुकाबले एक्टिवा आई वर्जन छोटा, और कम पावरफुल है और बिक्री के मामले में भी पीछे है। पहली दफा 110 सीसी की एक्टिवा आई को महिला ग्राहकों को ध्यान रखते हुए 2013 में लॉन्च किया गया था लेकिन 125 सीसी वर्जन उस पर भारी पड़ गया। अब स्कूटर को कुछ कॉसमेटिक और फंक्शनल बदलावों के साथ अपडेट किया गया है। 2018 होंडा एक्टिवा आई पांच रंगों में उपलब्ध होगी- कैंडी जैज ब्लू, इंपीरियल रेड मैटेलिक, लश मजेंटा मैटेलिक, ऑर्चिड परपल मैटेलिक और मैट एक्सिस ग्रे मैटेलिक। दूसरे अपडेट्स में मैटेलिक एग्जॉस्ट मफलर, फ्रंट हुक और डुअल-टोन एनालॉग इंस्ट्रूमेंट कंसोल शामिल हैं। होंडा के बाकी सभी स्कूटर की तरह एक्टिवा आई में भी फोर इन वन इग्निशन और सीट को खोलने के लिए अलग से स्विच दिया गया है।

नई होंडा आई को 109 सीसी के सिंगल सिलेंडर, एयरकूल्ड इंजन से संचालित करना जारी रखा गया है, इसका इंजन 8 हॉर्स पावर और 9 एनएम का टॉर्क बनाता है। टायर पहले के 90/100-10 मानक पर ही दोनों तरफ रखे गए हैं। एक्टिवा आई को टीवीएस स्कूटी जेस्ट, हीरो प्लेजर, यामाहा रे जेड और सुजुकी लेट्स का प्रतिद्वंदी माना जा रहा है। एक्टिवा 125, जिसकी दिल्ली एक्स शोरूम कीमत 59,621 रुपये हैं, उसे एलईडी हेडलैंप और अन्य कॉसमेटिक फीचर्स के साथ अपडेट किया गया है।

2018 होंडा एक्टिवा 125 के लिए अलग से वैकल्पिक चीजों की एक लिस्ट जारी की गई है, जिसमें अंडरसीट चार्जिंग पोर्ट और एक वैकल्पिक डिस्क ब्रेक शामिल है। एक्टिवा 125 में सामने के पहिए पर ड्रम ब्रेक का इस्तेमाल होता है और पिछले पहिए पर स्टैंडर्ड ब्रेक दिए गए हैं, जोकि कॉम्बी ब्रेक सिस्टम (सीबीएस) की मदद से काम करते हैं। सीबीएस एक प्रकार का सेफ्टी फीचर स्टैंडर्ड है जोकि ज्यादातर होंडा के दुपहिया वाहनों में होता है। सीबीएस का फायदा यह है कि भले ही वाहन चालक पिछले पहिए में ब्रेक लगाने के लिए लीवर खींचे लेकिन ब्रेक दोनों पहियों में लगता है। ऐसा ब्रेक सिस्टम को ताकतवर बनाने के लिए किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App