ताज़ा खबर
 

टाटा स्टील की यूरोपीय इकाई का घाटा समूह के लिए जोखिम भरा: मिस्त्री

टाटा संस द्वारा साइरस मिस्त्री को टाटा स्टील के निदेशक पद से हटाने के प्रयासों के बीच मिस्त्री ने कंपनी के प्रमुख के रूप में अपनी भूमिका और खास कर कंपनी के घाटे में चल रहे यूरोपीय कारोबार से निपटने के अपने तरीके का बचाव किया।

Author नई दिल्ली | December 6, 2016 6:01 PM
साइरस मिस्त्री

टाटा संस द्वारा साइरस मिस्त्री को टाटा स्टील के निदेशक पद से हटाने के प्रयासों के बीच मिस्त्री ने कंपनी के प्रमुख के रूप में अपनी भूमिका और खास कर कंपनी के घाटे में चल रहे यूरोपीय कारोबार से निपटने के अपने तरीके का बचाव किया। मिस्त्री ने कहा कि टाटा समूह ने टाटा स्टील यूरोप के परिचालन में जो भारी पूंजी लगाई है, उस पर घाटा होना समूचे समूह के समक्ष जोखिम भरा है। गौरतलब है कि मिस्त्री टाटा समूह की धारक कंपनी टाटा संस और विभिन्न कारोबारी कंपनियों के चेयरमैन पद से हटाए जा चुके हैं और अब उन्हें कंपनियों के निदेशक मंडल से हटाने का प्रस्ताव है।

उन्होंने इन आरोपों को खारिज किया कि उनके नेतृत्व में टाटा स्टील के निदेशक मंडल ने ब्रिटेन के निवेश को लघु अवधि के नफे-नुकसान के चश्मे से देखा। उन्होंने कहा कि यह सच से काफी दूर है। टाटा स्टील की असाधारण आम बैठक से पहले निदेशक मंडल को लिखे पत्र में मिस्त्री ने कहा कि इस कदम का एकमात्र आधार उन्हें टाटा संस के चेयरमैन पद से हटाना है जिसकी शुरच्च्आत ही गैरकानूनी है।

यह बैठक 21 दिसंबर को होनी है और इसमें मिस्त्री को कंपनी के निदेशक मंडल से हटाने के प्रस्ताव पारित कराया जाना है। उन्होंने कहा है कि ऐसी बातें केवल उन्हें टाटा संस के चेयमैन पद से हटाने के संबंध में की जा रही है। मिस्त्री ने कहा है कि उन्हें टाटा संसके चेयरमैन पद से हटाना गैरकानूनी है। उन्होंने लिखा है कि इस तरह की धारणा बनाई जा रही है कि टाटा स्टील ने अपने ब्रिटेन के निवेश को लघु अवधि के वित्तीय चश्मे से देखा। यह सच से काफी दूर की बात है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App