ताज़ा खबर
 

सशस्त्र बलों के लिए 440 हेलीकाप्टर खरीदने की जरूरत: जेटली

नई दिल्ली। सशस्त्र बलों को 440 हेलीकाप्टरों की जरूरत है और इनमें से ज्यादातर हेलीकाप्टर एचएएल सहित भारतीय कंपनियों से खरीदे जाएंगे जिससे देश में ही विनिर्माण की क्षमता बढाई जा सके। यह बात रक्षा मंत्री अरच्च्ण जेटली ने कही। उन्होंने कहा, ‘‘ सेना के तीनों अंगों के लिए करीब 440 हेलीकाप्टर की खरीद की […]

Author November 9, 2014 3:12 PM

नई दिल्ली। सशस्त्र बलों को 440 हेलीकाप्टरों की जरूरत है और इनमें से ज्यादातर हेलीकाप्टर एचएएल सहित भारतीय कंपनियों से खरीदे जाएंगे जिससे देश में ही विनिर्माण की क्षमता बढाई जा सके। यह बात रक्षा मंत्री अरच्च्ण जेटली ने कही।

उन्होंने कहा, ‘‘ सेना के तीनों अंगों के लिए करीब 440 हेलीकाप्टर की खरीद की जानी है.. कुछ विदेश से खरीदे जाएंगे, जबकि ज्यादातर हेलीकाप्टरों का देश में ही विनिर्माण करना होगा… हमने यह भी घोषणा की है कि भारतीय कंपनियां यहां तक की सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम इसके लिए आवेदन कर सकते हैं जिससे भारत में क्षमता निर्माण हो सके।’’

सरकार के इस निर्णय से रक्षा क्षेत्र में स्थानीय उद्योग के लिए 40,000 करोड़ रच्च्पये से अधिक के कारोबार का सृजन होने की संभावना है। इसके अलावा, भारत 56 परिवहन विमान खरीदना चाहता है जिसके लिए केवल निजी क्षेत्र की भारतीय कंपनियां पात्र हैं।

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘इस बार हमने पूर्व के निर्णय को रद्द किया है और इनका विनिर्माण भारत में किया जाएगा व भारतीय कंपनियों को इसके लिए आवेदन करना चाहिए जिसका मतलब है कि भारतीय कंपनियां संयुक्त उद्यम के जरिए आवेदन कर सकती हैं।’’

गौरतलब है कि सेना और वायुसेना के लिए इस तरह के 197 हेलीकाप्टरों की खरीद के लिए सरकार द्वारा 6,000 करोड़ रुपए के सौदे की निविदा रद्द किए जाने के बाद सशस्त्र बलों ने रक्षा मंत्रालय के समक्ष अपनी जरूरतों का अनुमान जताया था।

हिंदुस्तान एयरोनाटिक्स लिमिटेड हल्के हेलीकाप्टरों के विनिर्माण के लिए कर्नाटक के तुमकुर में पहले ही एक परियोजना शुरू कर चुकी है। इन हेलीकाप्टरों की क्षमता ढाई टन भार उठाने की होगी।

जेटली ने कहा कि भारतीय रक्षा अधिग्रहण परिषद की अब हर महीने बैठक होती है। ‘‘ मुझे पक्का विश्वास है कि यह जारी रहेगी क्योंकि व्यवस्था को संस्थागत रूप दिया जा चुका है।’’

Next Stories
1 अरूण जेटली को उम्मीद: शीतकालीन सत्र में पारित हो जाएगा बीमा विधेयक
2 महाराष्ट्र में विवाद के कारण शायद ही मिले शिवसेना को जगह
3 मोदी सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार आज, 20 नए मंत्रियों के शामिल होने की संभावना
ये पढ़ा क्या?
X