ताज़ा खबर
 

बिकने वाली है अनिल अंबानी की एक और कंपनी, खरीदने वालों की रेस में नवीन जिंदल भी शामिल

अनिल अंबानी की कंपनी को खरीदने की रेस में नवीन जिंदल की कंपनी के अलावा रूस सरकार के स्वामित्व वाले यूनाइटेड शिपबिल्डिंग कॉरपोरेशन और यूएस-आधारित फंड, इंटरअप भी शामिल हैं।

anil ambani, naveen jindal, relianceअनिल अंबानी की कंपनी पर 11,000 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया ​है। (Photo-indian express )

JSPL group has joined race to buy Reliance Naval and Engineering: कर्ज में डूबे अनिल अंबानी की कई कंपनियां बिक्री की प्रक्रिया से गुजर रही हैं। इन्हीं कंपनियों में से एक रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड (RNEL) भी शामिल है।

नवीन जिंदल की कंपनी खरीदने की रेस में: बिजनेस स्टैंडर्ड की एक खबर के मुताबिक अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड (RNEL) को खरीदने वालों की रेस में नवीन जिंदल के स्वामित्व वाला JSPL समूह भी है। आपको बता दें कि नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने ऋणदाताओं को कंपनी की रिज़ॉल्यूशन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए पांच और महीने दिए हैं।

अनिल अंबानी की इस कंपनी पर 11,000 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया ​है। अनिल अंबानी की कंपनी को खरीदने की रेस में नवीन जिंदल की कंपनी के अलावा रूस सरकार के स्वामित्व वाले यूनाइटेड शिपबिल्डिंग कॉरपोरेशन और यूएस-आधारित फंड, इंटरअप भी शामिल हैं।

कौन है नवीन जिंदल: पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर नवीन जिंदल देश के बड़े कारोबारी घरानों में शामिल हैं। नवीन की मां सावित्री जिंदल हैं। सावित्री जिंदल दुनिया के टॉप अरबपतियोंमें शुमार हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक सावित्री जिंदल की संपत्ति 8.22 बिलियन डॉलर है। वह अरबपतियों की सूची में 302वें स्थान पर हैं।

अगर रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड की बात करें तो इसकी पैरंट कंपनी रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर है। RNEL का पहले नाम रिलायंस डिफेंस एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड था।

अनिल अंबानी के रिलायंस समूह ने 2015 में पिपावाव डिफेंस एंड ऑफशोर इंजीनियरिंग लिमिटेड का अधिग्रहण किया। बाद में इसका नाम बदलकर रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड (RNEL) कर दिया गया।

Next Stories
1 किसानों के लिए मोदी सरकार की FPO स्कीम, 2 करोड़ रुपये तक के कर्ज का होगा इंतजाम
2 DHFL में करीब 1500 करोड़ के फ्रॉड का नया मामला, मुकेश अंबानी के समधी ने कंपनी पर लगाया है दांव
3 Cairn energy Case: ब्रिटिश कंपनी से भिड़ंत को तैयार भारत सरकार,1.4 अरब डॉलर रकम लौटाने का है दबाव
ये पढ़ा क्या?
X