ताज़ा खबर
 

10 करोड़ गरीब परिवारों को 6,000 रुपये देगी मोदी सरकार? कांग्रेस ने की ‘न्याय’ योजना लागू करने की मांग

6,000 rupees transfer to poors: कोरोना वायरस के संकट के चलते नौकरियां छूटने या लॉकडाउन से प्रभावित हुए देश के गरीबों को केंद्र की मोदी सरकार से बड़ी राहत मिल सकती है। देश के 8 से 10 करोड़ परिवारों को मोदी सरकार 5 से 6 हजार रुपये की रकम दे सकती है।

देश के 10 करोड़ परिवारों को 6,000 रुपये दे सकती है मोदी सरकार

6,000 rupees transfer to poors: कोरोना वायरस के संकट के चलते नौकरियां छूटने या लॉकडाउन से प्रभावित हुए देश के गरीबों को केंद्र की मोदी सरकार से बड़ी राहत मिल सकती है। देश के 8 से 10 करोड़ परिवारों को मोदी सरकार 5 से 6 हजार रुपये की रकम दे सकती है। बिजनस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक यह राशि सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। यदि सरकार की ओर से ऐसा किया जाता है तो ऐसे गरीब परिवारों के लिए यह बड़ी राहत होगी, जो रोजमर्रा की जरूरतों के लिए भी कैश के संकट से जूझ रहे हैं।

अनुमान के मुताबिक यदि सरकार 10 करोड़ परिवारों को 6,000 रुपये की रकम देती है तो 60,000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। हालांकि अभी सरकार की ओर से इस स्कीम को लेकर आकलन ही किया जा रहा है। मंगलवार को पीएम ने कोविद -19 के प्रकोप से निपटने के लिए और हेल्थकेयर इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए 15,000 करोड़ रुपये के आवंटन की भी घोषणा की।

कांग्रेस ने उठाई ‘न्याय’ योजना की मांग: बता दें कि कांग्रेस ने मोदी सरकार से मजदूरों के लिए ‘न्याय’ योजना जैसी स्कीम लागू करने की मांग की है। कांग्रेस ने 2019 के घोषणा पत्र में गरीब परिवारों को हर महीने 6,000 रुपये की राशि देने क ऐलान किया था। इस तरह गरीब परिवारों को हर साल 72,000 रुपये मिलते। हालांकि नरेंद्र मोदी सरकार ने यूनिवर्सल बेसिक इनकम जैसी स्कीम पर काम करने की बजाय वन टाइम ट्रांसफर की योजना तैयार की है।

छोटे उद्योगों को भी राहत दे सकती है सरकार: इसके अलावा सरकार की ओर से लघु उद्योगों को भी राहत देने की योजना पर विचार किया जा रहा है। इसके तहत छोटे कारोबारियों को लोन में राहत दी जाती है। हालांकि इसके लिए यह जरूरी होगा कि सरकार बैंकों में भी कुछ रकम डाले ताकि वह लोन की रिकवरी को कुछ दिनों के लिए होल्ड करने के बाद भी सुचारू तौर पर कामकाज चला सकें। सरकार के सूत्रों के मुताबिक मोदी सरकार की ओर से किसी भी दिन इस तरह के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया जा सकता है।

सरकार कर सकती है 2.3 खरब के पैकेज का ऐलान: बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों कोरोना वायरस को लेकर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन इकनॉमिक रेस्पॉन्स टास्क फोर्स के गठन का ऐलान किया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इस टास्क फोर्स का नेतृत्व करेंगी। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार की ओर से 2.3 खरब रुपये का आर्थिक पैकेज कोरोना से राहत के लिए जारी किया जा सकता है। इस पैकेज में न सिर्फ गरीब परिवारों को तत्काल नगद राशि राहत के तौर पर दी जाएगी बल्कि लघु एवं मध्यम उद्योगों को भी बड़ी राहत देने की योजना तैयार की जा रही है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 देश के 80 करोड़ गरीबों को हर महीने सब्सिडी पर मिलेगा 7 किलो राशन, अब तक 5 किलो ही थी लिमिट
2 रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने TCS को पछाड़कर फिर हासिल किया नंबर वन का दर्जा, बाजार पूंजीकरण में पछाड़ा
3 कोरोना से लॉकडाउन के चलते डूब जाएंगे 9 लाख करोड़ रुपये, आरबीआई से राहत की उम्मीद, ब्याज दरों में हो सकती है बड़ी कटौती