ताज़ा खबर
 

केंद्र सरकार की 58 कंपनियों से ज्यादा है मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैपिटलाइजेशन

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन देश की 58 सरकारी कंपनियों से ज्यादा है। इनमें ओएनजीसी, एनटीपीसी, कोल इंडिया, इंडियन ऑयल, गेल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, आईआरसीटीसी, रेल विकास निगम लिमिटेड जैसी दिग्गज कंपनियां शामिल हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी

दुनिया के 5वें सबसे रईस शख्स मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड कोरोना काल में लगातार ग्रोथ हासिल कर रही है। कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन सोमवार को बढ़ते हुए 14.38 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है। यह आंकड़ा एक तरफ बीएसई सूचकांक में लिस्टेड कंपनियों के कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन के 10 फीसदी के बराबर है। इससे भी उल्लेखनीय आंकड़ा यह है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन देश की 58 सरकारी कंपनियों से ज्यादा है। इन सेंट्रल पब्लिक सेक्टर इंटरप्राइजेज में ओएनजीसी, एनटीपीसी, कोल इंडिया, इंडियन ऑयल, गेल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, आईआरसीटीसी, रेल विकास निगम लिमिटेड जैसी दिग्गज कंपनियां शामिल हैं।

डिपार्टमेंट ऑफ इन्वेस्टमेंट ऐंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक देश की 58 सेंट्रल पब्लिक सेक्टर इंटरप्राइजेज का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन 8,66,228.91 करोड़ रुपये है। इनमें सबसे ज्यादा मार्केट कैपिटलाइजेशन ऑयल ऐंड नेचुरल गैस कंपनी यानी ओएनजीसी का 99,698.64 करोड़ रुपये है। दूसरे नंबर पर बिजली उत्पादक कंपनी एनटीपीसी है, जिसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 93,801.57 करोड़ रुपये है। इसके बाद पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया का नंबर आता है, जिसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 86,635.12 करोड़ रुपये है। स्कूटर्स इंडिया लिमिटेड का आंकड़ा महज 179.34 करोड़ रुपये का है।

इस बीच रिलायंस ने भारत से बाहर दुनिया भऱ में परचम लहराते हुए विश्व की दूसरी सबसे बड़ी एनर्जी कंपनी होने का तमगा हासिल कर लिया है। सऊदी अरब की कंपनी अरामको के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का ही नाम आता है। रिलायंस ने अमेरिकी एनर्जी कंपनी Exxon Mobil को पछाड़कर दूसरा स्थान हासिल कर लिया है। बीते करीब तीन महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड समूह की कंपनी रिलायंस जियो में बड़े पैमाने पर हुए निवेश के चलते कंपनी की स्थिति में यह सुधार आया है।

बीएसई सूचकांक में लिस्टेड कंपनियों के बीच तुलनात्मक अध्ययन करें तो रिलायंस की कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन में करीब 10 फीसदी की हिस्सेदारी है। बीते दो सालों में ही मुकेश अंबानी की कंपनी ने अपनी हिस्सेदारी में दोगुने का इजाफा कर लिया है। बीएसई में लिस्टेड सभी कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 147.23 लाख करोड़ रुपये है, जबकि रिलायंस का आंकड़ा 14.38 लाख करोड़ रुपये के पार है। इस तरह से बीएसई में लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैपिटलाइजेशन में रिलायंस की 9.8 पर्सेंट की हिस्सेदारी है।

Next Stories
1 जानें, दिल्ली में फूड सिक्योरिटी के लिए आप कैसे ऑनलाइन करा सकते हैं अपना रजिस्ट्रेशन, आसान है प्रक्रिया
2 विदेशी हाथों में जाएगी सरकारी तेल कंपनी भारत पेट्रोलियम? सऊदी अरामको समेत ये कंपनियां खरीद सकती हैं हिस्सेदारी
3 7th Pay Commission: कोरोना काल में आम लोगों की नौकरी पर बनी, रिटायर्ड अफसरों को नौकर रखने के लिए मिल रहा 10,000 रुपये महीने का भत्ता
ये पढ़ा क्या?
X