ताज़ा खबर
 

मुकेश अंबानी की कंपनी को रिकॉर्ड तोड़ मुनाफा, तीन महीने में कमाए 9,516 करोड़ रुपए

यह किसी भी तिमाही में कंपनी का सर्वाधिक मुनाफा है। इस जुलाई-सितंबर में कंपनी के शुद्ध लाभ में पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 17.4 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

Author Updated: October 17, 2018 7:46 PM
कंपनी का राजस्व भी 54.5 प्रतिशत बढ़कर 156,291 करोड़ रुपये रहा।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बुधवार को कहा कि इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में उसे 9,516 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड नेट प्रॉफिट हुआ है। यह किसी भी तिमाही में कंपनी का सर्वाधिक मुनाफा है। इस जुलाई-सितंबर में कंपनी के शुद्ध लाभ में पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 17.4 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। कंपनी ने बयान जारी कर कहा है कि पिछले साल की इसी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध मुनाफा 8,109 करोड़ रुपये रहा था। कंपनी का राजस्व भी 54.5 प्रतिशत बढ़कर 156,291 करोड़ रुपये रहा। पेट्रोकेमिकल और रिफाइनरी उत्पादों की ज्यादा कीमत के कारण ब्रेंट क्रूड प्राइस में 44.5 फीसदी की बढ़ोतरी के चलते टॉप लाइन बढ़ी है। कंपनी के मुताबिक नई पेट्रोकेमिकल सुविधाओं के कमीशन और रैंप-अप के बाद राजस्व में बढ़ोतरी हुई है। तिमाही के लिए सकल परिष्करण मार्जिन पिछले साल की समान तिमाही में 12 डॉलर प्रति बैरल के मुकाबले 9.50 डॉलर प्रति बैरल पर आया था।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने कहा, “हमारी कंपनी ने YoY आधार पर कमाई में मजबूत बढ़ोतरी के साथ, मैक्रो हेडविंड्स के बावजूद तिमाही के लिए मजबूत संचालन और वित्तीय परिणाम दिए। हमारे एकीकृत रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनेस ने कमोडिटी और मुद्रा बाजारों में बढ़ी हुई अस्थिरता की अवधि में मजबूत नकद प्रवाह पैदा किया।”

कंपनी की दूरसंचार इकाई, रिलायंस जियो ने जून तिमाही में 8,109 करोड़ रुपये की तुलना में 9,240 करोड़ रुपये का राजस्व दर्ज किया। सितंबर तिमाही में 681 करोड़ रुपये का लाभ जून तिमाही में 612 करोड़ रुपये था। दूरसंचार कारोबार के लिए एबिटा क्रमश: 3,147 करोड़ रुपये से 3,573 करोड़ रुपये हो गया। एआरपीयू प्रति माह 131.20 रुपये प्रति ग्राहक पर आया था। आरआईएल हैथवे केबल में 51 फीसदी हिस्सेदारी के लिए अधिमान्य मुद्दे के माध्यम से 2,940 करोड़ रुपये का प्राथमिक निवेश करेगी। डेन नेटवर्क्स के मामले में, कंपनी अधिमानी मुद्दे के माध्यम से 2,045 करोड़ रुपये का प्राथमिक निवेश करेगी और कंपनी में 66 फीसदी हिस्सेदारी के लिए मौजूदा प्रमोटरों से 245 करोड़ रुपये की माध्यमिक खरीद करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Paytm से MobiKwik में भेज सकेंगे पैसे! ई-वॉलेट के बीच मनी ट्रांसफर के लिए RBI ने उठाया बड़ा कदम
2 सरकारी बैंकों के बोर्ड्स से अपने निदेशक हटाना चाहता है रिजर्व बैंक, केंद्र सरकार ने ठुकराई मांग
3 GPF Interest Rate 2018-19: अब सरकार ने जीपीएफ पर बढ़ाई ब्याज दर, मिलेगा ज्यादा पैसा
ये पढ़ा क्‍या!
X