ताज़ा खबर
 

अजय पीरामल की कंपनी ने मैनेजमेंट में किया ये बदलाव, मुकेश अंबानी से है खास कनेक्शन

पीरामल एंटरप्राइजेज ने पीरामल कैपिटल के एमडी खुशरु जिजिना को कंपनी के बोर्ड में कार्यकारी निदेशक, वित्तीय सेवा के रूप में शामिल किया है।

अजय पीरामल और मुकेश अंबानी रिश्ते में समधी लगते हैं (Photo-PTI, Piramal.com )

Mukesh Ambani, Ajay Piramal: पीरामल ग्रुप की कंपनी पीरामल एंटरप्राइजेज के मैनेजमेंट में एक अहम बदलाव हुआ है। इसकी जानकारी खुद कंपनी ने दी है।

दरअसल, पीरामल एंटरप्राइजेज ने पीरामल कैपिटल के एमडी खुशरु जिजिना को कंपनी के बोर्ड में कार्यकारी निदेशक, वित्तीय सेवा के रूप में शामिल किया है। कंपनी की ओर से जारी बयान के मुताबिक पीरामल कैपिटल 2010 में स्थापित पीरामल एंटरप्राइजेज की वित्तीय सेवा कंपनी है।

कौन है पीरामल ग्रुप का मुखिया: इस ग्रुप के मुखिया अजय पीरामल हैं। इनकी पहचान पीरामल एंटरप्राइजेज की वजह से है लेकिन इसके अलावा भी अजय पीरामल ने अपनी एक खास पहचान बनाई है। वह देश के टॉप अरबपतियों के अलावा दानवीरों में भी शामिल हैं।

मुकेश अंबानी से कनेक्शन: अजय पीरामल और मुकेश अंबानी रिश्ते में समधी लगते हैं। दरअसल, अजय पीरामल के बेटे आनंद की शादी ईशा अंबानी से हुई है। ईशा, मुकेश अंबानी की इकलौती बेटी हैं। कहने का मतलब ये है कि अजय पीरामल कारोबारी के अलावा ईशा अंबानी के ससुर भी हैं। बता दें कि अजय पीरामल की संपत्ति 3 बिलियन डॉलर से ज्यादा है। अजय पीरामल का रियल टाइम नेटवर्थ 3.8 बिलियन डॉलर के करीब है। वह भारतीय अमीरों की सूची में 50वें स्थान पर हैं। वहीं, अजय पीरामल दानवीरों की सूची में भी टॉप 10 में हैं।

अजय पीरामल के समधी यानी मुकेश अंबानी की संपत्ति की बात करें तो करीब 78 बिलियन डॉलर के स्तर पर पहुंचने को है। मुकेश अंबानी के रैंकिंग की बात करें तो 11वीं है। यानी वह दुनिया के 11वें सबसे दौलतमंद अरबपति हैं। मुकेश अंबानी भी दान देने वाले अरबपतियों में शुमार हैं।

डीएचएफल का किया है अधिग्रहण: हाल ही में पीरामल एंटरप्राइजेज ने कर्ज संकट से जूझ रही दीवान हाउसिंग यानी डीएचएफएल का अधिग्रहण किया है। आपको बता दें कि डीएचएफएल पर बैंकों का 90 हजार करोड़ से ज्यादा का बकाया है। मार्च 2020 में कंपनी की परिसम्पत्तियां (दिए गए कर्ज के बकाए) 79,800 करोड़ रुपये थी। इसमें से 63 प्रतिशत एनपीए हो चुकी थीं।

इसमें 10,083 करोड़ रुपये का सबसे बड़ा बकाया भारतीय स्टेट बैंक का है। यही नहीं, यूनियन बैंक (2,378 करोड़ रुपये), सिंडीकेट बैंक (2,229 करोड़ रुपये), बैंक आफ इंडिया के (4,125 करोड़ रुपये), केनरा बैंक (2,681 करोड़ रुपये), बैंक आफ बड़ौदा (2,075 करोड़) और एनएचबी (2,434 करोड़ रुपये) का भी बकाया है।

Next Stories
1 गौतम अडानी की इस कंपनी को एक साथ 2 बड़ी सफलता, इधर रॉकेट की तरह बढ़ी दौलत
2 मुकेश अंबानी के रिलायंस की नई कंपनी को बोर्ड से मंजूरी, जानिए क्या होगा कारोबार
3 7th Pay Commission News: बच्चों के लिए पुरुष कर्मचारी को भी मिलती है छुट्टी, जान लीजिए सरकार के नियम
ये पढ़ा क्या?
X