ताज़ा खबर
 

ऑयल बिजनेस में रिलायंस इंडस्ट्रीज को मिली सफलता, जानिए निवेशकों ने कैसे दिया रिएक्शन

RIL सऊदी अरब ऑयल कंपनी (अरामको) के साथ 20 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री के लिए बातचीत कर रही थी। हालांकि, कंपनी ने अरामको के साथ चल रही बातचीत का उल्लेख नहीं किया है।

mukesh ambani, ril, relianceकंपनी के ऑयल टू केमिकल व्यवसाय का मूल्यांकन 75 अरब डॉलर (Photo-indian express )

अरबपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने ऑयल टू केमिकल (O2C) कारोबार के लिए अलग यूनिट बनाने का काम पूरा कर लिया है।

इस बीच, सोमवार को शुरुआती कारोबार में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में करीब 4 फीसदी की गिरावट आई है। शेयर बाजार खुलने के एक घंटे के भीतर रिलायंस का शेयर भाव एक बार फिर 2 हजार अंक के नीचे आ गया। वहीं, मार्केट कैपिटल में भी गिरावट आई है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सऊदी अरामको जैसी कंपनियों को हिस्सेदारी की संभावित बिक्री के लिये ऑयल टू केमिकल (O2C) व्यवसाय को अलग इकाई बनाने का काम पिछले साल शुरू किया था। कंपनी के ऑयल टू केमिकल व्यवसाय का मूल्यांकन 75 अरब डॉलर किया गया था। कंपनी सऊदी अरब ऑयल कंपनी (अरामको) के साथ 20 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री के लिए बातचीत कर रही थी। हालांकि, कंपनी ने अरामको के साथ चल रही बातचीत का उल्लेख नहीं किया है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के नतीजे: रिलायंस इंडस्ट्रीज के चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के शुद्ध लाभ में 12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। ऑयल टू केमिकल कारोबार में सुधार तथा खुदरा क्षेत्र में लगातार वृद्धि तथा दूरसंचार इकाई जियो के कारोबार में सतत वृद्धि से कंपनी का शुद्ध लाभ में बढ़ोतरी हुई है। तिमाही के दौरान शुद्ध लाभ 12 प्रतिशत बढ़कर 13,101 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 11,640 करोड़ रुपये रहा था। तिमाही के दौरान कंपनी की परिचालन आय घटकर 1,28,450 करोड़ रुपये रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1,57,165 करोड़ रुपये थी।

Next Stories
1 नई कार खरीदने वाले ग्राहकों के लिए जरूरी खबर, बदलेगा वाहन-बीमा प्रीमियम के भुगतान का तरीका! 
2 भारत के लिए एलन मस्क की बड़ी तैयारी, मुकेश अंबानी की बढ़ सकती है टेंशन
3 10 माह पहले जिस बैंक पर RBI ने लगाया था बैन, उसे 150 करोड़ का हुआ मुनाफा
यह पढ़ा क्या?
X