ताज़ा खबर
 

सभी सरकारी कंपनिया मिलकर भी मुकेश अंबानी के साम्राज्य के बराबर नहीं, रिलायंस ने बनाया रिकॉर्ड

पिछले 6 महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने इक्विटी कैपिटल से 33 बिलियन डॉलर की धन राशि जुटाई है। इसके अलावा पिछले छह महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अपने निवेशकों की धनराशि को भी दोगुने से भी अधिक कर दिया है।

Author Edited By यतेंद्र पूनिया नई दिल्ली | Updated: September 16, 2020 1:06 PM
mukesh ambaniरिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड हर दिन नए मुकाम छू रही है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने एक और नया रिकॉर्ड बनाया है। देश की सभी सरकारी कंपनियों की संपत्ति रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड से कम है। मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का मार्केट वैल्यूएशन देश की सभी सरकारी कंपनियों की कुल पूंजी से भी ज्यादा है। जनवरी 2020 से अब तक देश की सबसे वैल्यूबल कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयर 54.6 फीसदी बढ़ गए हैं। गूगल, फेसबुक और सिल्वरलेक जैसी बड़ी कंपनियों को मुकेश अंबानी द्वारा जियो प्लेटफार्म और रिलायंस रिटेल के शेयर बेचने को इस बढोतरी का अहम कारण माना जा रहा है ।

देश की 83 पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग (PSU) की सारी मार्केट केपीटलाइजेशन 15.16 लाख करोड़ रूपए है। वहीं मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की मार्केट केपिटलाइजेशन 15.30 लाख करोड़ रूपए है। इस साल की शुरुआत में देश की सभी पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग की मार्केट कैपिटलाइजेशन रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड से दो गुना थी। साल की शुरुआत में देश की सभी पब्लिक सेक्टर कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 19.3 लाख करोड़ रूपए था, वहीं रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की मार्केट कैपिटलाइजेशन 9.6 लाख करोड़ रूपए था।

पिछले 6 महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने इक्विटी कैपिटल से 33 बिलियन डॉलर की धन राशि जुटाई है। इसके अलावा पिछले छह महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अपने निवेशकों की धनराशि को भी दोगुने से भी अधिक कर दिया है। ब्लूमबर्ग डाटा के अनुसार मंगलवार तक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की मार्केट कैपिटलाइजेशन 207.88 बिलियन डॉलर है जो भारत में स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड कंपनियों का 10 फ़ीसदी है। भारत दुनिया का 10वां सबसे बड़ी इक्विटी मार्केट है, जिसका मार्केट वैल्यूएशन लगभग 2.11 ट्रिलियन डॉलर है।

कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के अनुसार रिलायंस को कई चीजों के फायदा मिल रहा है। जिसमें कई सेक्टर में प्रभावी और बढ़ती उपस्थिति, सभी बेंचमार्क सूचकांकों में शानदार प्रदर्शन भी अहम कारण हैं। सरकार की सबसे बड़ी पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का मार्केट कैपिटलाइजेशन 1.79 लाख करोड़ रूपए है, जो रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैपिटलाइजेशन 15.30 लाख करोड़ रूपए से बेहद कम है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के बाद टाटा ग्रुप की आईटी कंपनी टीसीएस मार्केट कैपिटलाइजेशन के मामले में दूसरे नंबर पर है। कंपनी का बाजार पूंजीकरण 9.35 लाख करोड़ रुपये है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयर प्राइस में लगातार होती बढ़ोतरी ने मुकेश अंबानी को दुनिया का छठा सबसे अमीर इंसान बना दिया है। मुकेश अंबानी के पास 88.4 बिलियन डॉलर की संपत्ति है। जून 2020 के अंत तक प्रमोटर ग्रुप के पास कंपनी के 50.37 फ़ीसदी शेयर थे। इससे पहले 2007 में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की मार्केट कैपिटलाइजेशन 6 महीनों में 50 बिलियन डॉलर से बढ़कर 100 बिलियन डॉलर हो गई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 एयरपोर्ट के ठेके हासिल करने के बाद नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के कॉन्ट्रैक्ट की रेस में अडानी ग्रुप, जानें- क्या है प्लान
2 एयर इंडिया को नहीं मिल रहे खरीददार, हमेशा के लिए बंद भी कर सकती है मोदी सरकार, जानें- क्या है प्लान
3 एक वैद्य ने खड़ी की सैकड़ों करोड़ की बैद्यनाथ आयुर्वेद कंपनी, कोरोना काल में बढ़ी गिलोय, च्यवनप्राश जैसे उत्पादों की मांग
ये पढ़ा क्या?
X