ताज़ा खबर
 

पूर्व सरकारी अफसर को मुकेश अंबानी ने बनाया रिलायंस इंडस्ट्रीज का प्रेसिडेंट, हाल ही में हुए थे रिटायर

सरकारी अधिकारियों को हायर करने का रिलायंस का पुराना इतिहास रहा है। इसी साल की शुरुआत में कंपनी ने इंडियन ऑयल के एक और पूर्व चेयरमैन सार्थक बेहुरिया को सीनियर एडवाइजर के तौर पर नियुक्त किया था।

sanjiv singh indian oilइंडियन ऑयल के पूर्व चेयरमैन को मुकेश अंबानी ने बनाया RIL का प्रेसिडेंट

देश के दिग्गज कारोबारी समूह रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के चेयरमैन रहे संजीव सिंह को प्रेसिडेंट के तौर पर नियुक्त किया है। मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाले समूह में वह ऑयल से लेकर केमिकल तक के बिजनेस को संभालेंगे। रिलायंस के एग्जीक्युटिव डायरेक्टर हितल आर, मेसवानी की ओर से कर्मचारियों को दी गई जानकारी में यह बताया गया है। 30 जून को ही इंडियन ऑयल के चेयरमैन के पद से रिटायर होने वाले संजीव सिंह रिलायंस की बिजनेस लीडरशिप टीम का हिस्सा होंगे। रिलायंस के O2C बिजनेस (ऑयल टू केमिकल) में रिलायंस ग्रुप की दो रिफाइनरियां भी आती हैं, जो गुजरात के जामनगर में स्थित हैं।

बता दें कि डिजिटल से लेकर रिटेल तक के कारोबार में पैर पसार चुके रिलायंस ने अब ऑयल टू केमिकल बिजनेस के लिए एक अलग ही यूनिट गठित करने का फैसला लिया है। नई बनने वाली इस कंपनी का नाम Reliance O2C Ltd होगा। यही नहीं इसकी 20 फीसदी हिस्सेदारी रिलायंस सऊदी अरब की तेल कंपनी अरामको को बेचने पर विचार कर रहा है। यह डील 15 अरब डॉलर में हो सकती है।

सरकारी अधिकारियों को हायर करने का रिलायंस का पुराना इतिहास रहा है। इसी साल की शुरुआत में कंपनी ने इंडियन ऑयल के एक और पूर्व चेयरमैन सार्थक बेहुरिया को सीनियर एडवाइजर के तौर पर नियुक्त किया था। उन्हें कंपनी के फ्यूल रिटेल बिजनेस के विस्तार का खाका तैयार करने को कहा गया है।

हितल मेसवानी ने कर्मचारियों को दी गई जानकारी में कहा कि संजीव सिंह ग्रुप की मैन्युफैक्चरिंग सर्विसेज को लीड करेंगे और उनका संचालन करेंगे, जो ऑयल टू केमिकल बिजनेस के लिए बैकबोन की तरह है। बता दें कि रिलायंस के रिफाइनिंग और मार्केटिंग के बिजनेस को खुद मेसवानी संभालते हैं। इसके अलावा सुरिंदर सनी रिफाइनिंग बिजनेस के ग्रुप प्रेसिडेंट हैं। हितल मेसवानी को मुकेश अंबानी के बेहद करीबी लोगों में शुमार किया जाता है, जो बीते करीब दो दशक से ज्यादा वक्त से उनके साथ काम कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बैलेंस ट्रांसफर करने पर नहीं मिल पाएगा प्रधानमंत्री आवास योजना का फायदा, जानें- क्या है नियम
2 एक दिन की पैरवी के लिए 15 लाख रुपये तक फीस लेते हैं कपिल सिब्बल, पर मुफ्त में लड़ते हैं कांग्रेस पार्टी के मुकदमे
3 मोराटोरियम में ब्याज वसूली पर सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी, केंद्र सरकार से कहा- आपके लॉकडाउन लगाने से ही बढ़ा है आर्थिक संकट
ये पढ़ा क्या?
X