ताज़ा खबर
 

मुकेश अंबानी को बर्थडे पर मिली ये खबर, 24 हजार करोड़ की डील पर होगा असर

अमेरिका की ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन और फ्यूचर समूह के बीच कानूनी विवाद चल रहा है। इस विवाद की शुरुआत बीते साल हुई, जब रिलायंस और फ्यूचर समूह ने आपस में 24 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की डील की।

mukesh ambani, reliance, amazonफ्यूचर रिटेल लिमिटेड और रिलायंस रिटेल के बीच हुई है डील (Photo-Indian Express )

मुकेश अंबानी का आज यानी 19 अप्रैल को बर्थ है। बर्थडे के दिन मुकेश अंबानी की 24 हजार करोड़ रुपये की डील से जुड़ी एक अहम खबर मिली है।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को फ्यूचर रिटेल लिमिटेड के रिलायंस रिटेल के साथ विलय से जुड़े मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में चल रही कार्यवाही को स्थगित करने का निर्देश दिया है। न्यायाधीश आर एफ नरीमन, न्यायाधीश बी आर गवई और न्यायाधीश हृषिकेश रॉय ने मामले की अगली सुनवाई के लिये चार मई की तारीख तय की और मामले में सभी दलीलें लिखित में पूरी करने का निर्देश दिया है।

क्या है मामलाः दरअसल, अमेरिका की ई कॉमर्स कंपनी ने फ्यूचर और रिलायंस रिटेल की एक डील पर आपत्ति दर्ज की है। इसी डील को लेकर अमेजन ने आठ अप्रैल को शीर्ष अदालत में याचिका दायर कर दिल्ली हाईकोर्ट की खंडपीठ के आदेश को चुनौती दी थी। दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश में फ्यूचर समूह पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ किये गये 24,713 करोड़ रुपये के संपत्ति बिक्री सौदे पर लगायी गयी रोक को हटा दिया गया था।

इससे पहले, फ्यूचर रिटेल ने हाईकोर्ट में एकल पीठ के आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी थी। एकल न्यायाधीश की पीठ ने सिंगापुर आपातकालीन मध्यस्थता न्यायाधिकरण के आदेश को बरकरार रखा था। सिंगापुर की अदालत ने अपने आदेश में रिलायंस और फ्यूचर ग्रुप की डील पर रोक लगा दी थी। (ये पढ़ें-कर्ज देती थी अनिल अंबानी की ये दो कंपनियां, फिर कारोबार समेटने की आ गई नौबत)

आपको बता दें कि अमेरिका की ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन और फ्यूचर समूह के बीच कानूनी विवाद चल रहा है। इस विवाद की शुरुआत बीते साल हुई, जब रिलायंस और फ्यूचर समूह ने आपस में 24 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की डील की। (ये पढ़ें-अडानी संभाल रहे हैं अंबानी का कारोबार)

अमेजन ने सवाल खड़े किए: इस डील को लेकर अमेरिकी ई कॉमर्स कंपनी अमेजन ने सवाल खड़े किए। अमेजन ने फ्यूचर समूह के खिलाफ सिंगापुर के आपातकालीन मध्यस्थता न्यायाधिकरण में मामला दर्ज किया। उसकी दलील है कि भारतीय कंपनी ने प्रतिद्वंद्वी रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ समझौता कर कॉन्ट्रैक्ट का उल्लंघन किया है।

दरअसल, फ्यूचर समूह की गैर सूचीबद्ध कंपनी फ्यूचर कूपंस लिमिटेड में अमेजन की हिस्सेदारी है। इस हिस्सेदारी के साथ अमेजन ने एक करार किया था। इसी को आधार बनाकर अमेजन ने रिलायंस और फ्यूचर ग्रुप की डील का विरोध किया है।

Next Stories
1 मुकेश अंबानी के भांजे संभाल रहे कोठारी ग्रुप का कारोबार, मां नीना की यूं करते हैं मदद
2 भारत आ रही एलन मस्क की टेस्ला, वर्चुअल करंसी में भी बिकती है कंपनी की कार
3 अनिल कर रहे थे विदेशी कंपनी से डील, भाई मुकेश अंबानी ने यूं लगाया अड़ंगा
ये पढ़ा क्या?
X