ताज़ा खबर
 

TikTok की भारतीय यूनिट खरीदेंगे मुकेश अंबानी? रिपोर्ट में दावा- नफ़ा-नुक़सान का हिसाब लगा रही RIL

रिलायंस की टेलिकॉम यूनिट रिलायंस जियो की टीम इस पर विचार कर रही है कि क्या इस मौके पर टिकटॉक में निवेश करना सही रहेगा। यही नहीं रिलायंस की ओर से कुछ बाहरी विशेषज्ञों से भी इसके बारे में सलाह दी गई है।

mukesh ambani tik tokटिकटॉक में निवेश कर सकते हैं मुकेश अंबानी: रिपोर्ट

TikTok की भारतीय यूनिट को मुकेश अंबानी खरीदने पर विचार कर रहे हैं। एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाला रिलायंस समूह टिकटॉक में निवेश की संभावनओं पर विचार कर रहा है। मामले की जानकारी रखने वाले 6 करीबी सूत्रों के मुताबिक रिलायंस अभी टिकटॉक में निवेश से लाभ और हानि का आकलन कर रही है। हालांकि रिलायंस ने ऐसी खबरों को अफवाह करार दिया है।  बता दें कि रिलायंस की ओर से निवेश किए जाने पर विचार करने की यह खबर ऐसे वक्त में आई है, जब अमेरिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक के ग्लोबल ऑपरेशंस को खरीदने पर विचार कर रही है। इसके लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 15 सितंबर तक का वक्त दिया गया है।

माना जा रहा है कि टिकटॉक के सीईओ केविन मेयर ने रिलायंस के अधिकारियों से संपर्क किया था। इस दौरान उन्होंने रिलायंस को टिकटॉक की भारतीय यूनिट में निवेश का प्रस्ताव दिया था। इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस ऑफर के बाद से ही रिलायंस की टेलिकॉम यूनिट रिलायंस जियो की टीम इस पर विचार कर रही है कि क्या इस मौके पर टिकटॉक में निवेश करना सही रहेगा। यही नहीं रिलायंस की ओर से कुछ बाहरी विशेषज्ञों से भी इसके बारे में सलाह दी गई है। सूत्रों के मुताबिक इस संभावित डील को लेकर दोनों ही पक्ष सीधे तौर पर जुड़े हैं और बातचीत जारी है।

रिलायंस ने बताया अफवाह: हालांकि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटे़ड ने इस संबंध में पूछे जाने पर कहा कि यह खबर पूरी तरह से कल्पनाओं पर आधारित और अफवाह है। सूत्रों का कहना है कि रिलायंस और टिकटॉक के बीच की बातचीत अभी शुरुआती दौर में ही है। हालांकि इस डील में कई बाधाएं भी हैं। टिकटॉक के लिए भारत एक बड़ा बाजार रहा है, जहां उसके 650 मिलियन से ज्यादा डाउनलोड्स रहे हैं।

 

तेजी से बढ़ी थी TikTok की लोकप्रियता: बीते कुछ सालों में शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक की भारत में तेजी से लोकप्रियता बढ़ी थी। बता दें कि पिछले दिनों लद्दाख सीमा पर भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प के बाद से दोनों देशों के रिश्ते निचले स्तर पर हैं। सीमा पर तनाव के बाद भारत ने ऐक्शन लेते हुए चीनी कंपनियों के 59 ऐप्स को बैन कर दिया था, जिनमें टिकटॉक भी शामिल है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम स्वनिधि स्कीम के तहत हुए 5 लाख आवेदन, एक लाख से ज्यादा लोन मंजूर, जानें- कैसे कर सकते हैं अप्लाई
2 Indian Railway: 12 क्लस्टर में प्राइवेट ट्रेन चलाने में L&T, सिमंस जैसी बड़ी कंपनियों ने दिखाई रुचि, जानें कौन सी अन्य कंपनियां हैं रेस में
3 कश्मीर मसले पर सऊदी अरब से बिफरना पाकिस्तान को पड़ा भारी, लोन और तेल की आपूर्ति पर लगी रोक
ये पढ़ा क्या?
X