scorecardresearch

बिल गेट्स से दोस्ती की तैयारी में मुकेश अंबानी, जियो में बड़ा निवेश करेगा माइक्रोसॉफ्ट, होगी छठी बिग डील

इसी साल फरवरी में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला भारत के दौरे पर आए थे और मुकेश अंबानी से मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि उस दौरान दोनों कारोबारी दिग्गजों के बीच बातचीत हुई थी।

reliance jio
रिलायंस जियो में बड़ा निवेश कर सकता है माइक्रोसॉफ्ट

देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी अब बिल गेट्स से दोस्ती कर रिलायंस जियो में बड़ा निवेश लाने की तैयारी में हैं। सूत्रों के मुताबिक रिलायंस और माइक्रोसॉफ्ट के बीच फिलहाल इस डील को लेकर बातचीत चल रही है। मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक सत्या नडेला के नेतृत्व वाली कंपनी जियो में 2.5 फीसदी की हिस्सेदारी खरीद सकती है। बीते करीब एक महीने में ही रिलायंस जियो ने फेसबुक समेत 5 दिग्गज टेक कंपनियों से डील के जरिए 78,562 करोड़ रुपये का निवेश हासिल किया है। रिलायंस जियो में फेसबुक के अलावा केकेआर ऐंड कंपनी, सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स और जनरल अटलांटिक ने निवेश किया है।

इसी साल फरवरी में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला भारत के दौरे पर आए थे और मुकेश अंबानी से मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि उस दौरान दोनों कारोबारी दिग्गजों के बीच बातचीत हुई थी। उस दौरान मुकेश अंबानी ने बातचीत में कहा था कि भारत में ऑनलाइन गेमिंग का अच्छा भविष्य है और इस सेक्टर में ऑनलाइन एंटरटेनमेंट और कंटेंट दोनों के मुकाबले ज्यादा संभावनाएं हैं।

इस दौरान नडेला ने कहा था कि माइक्रोसॉफ्ट की योजना भारत में डेटा सेंटर्स खोलने की है ताकि Azure क्लाउड सर्विसेज का फायदा लिया जा सके। 2016 में लॉन्च हुई कंपनी रिलायंस जियो को बीते साल मुकेश अंबानी ने जियो प्लेटफॉर्म्स नाम दिया था। इसके साथ ही इस कंपनी में रिलायंस जियो के अलावा अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्म्स को शामिल किया था।

हाल ही में रिलायंस जियो में सबसे पहले फेसबुक ने 43,574 करोड़ रुपये का निवेश कर 9.99 पर्सेंट की हिस्सेदारी खरीदी थी। इसके बाद केकेआर ने 11,367 करोड़ रुपये का निवेश किया है। केकेआर का यह एशिया की किसी भी फर्म में अब तक का सबसे बड़ा निवेश है। 4.91 लाख करोड़ रुपये की इक्विटी वाली कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स को मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाला रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड समूह प्रमुखता के साथ आगे बढ़ा रहा है। कंपनी के आंतरिक सूत्रों के मुताबिक मुकेश अंबानी की योजना रिलायंस को ऑयल और गैस कंपनी से आगे बढ़ाते हुए टेक कंपनी के तौर पर स्थापित करने की है।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.