ताज़ा खबर
 

Motor Insurance Claims पाना होगा अब और भी आसान! गाड़ियों के डैमेज पर IRDAI लाया यह प्रस्ताव

IRDAI का कहना है कि ऐसा करने से इंश्योरेंस कंपनी को आसानी होगी और छोटे-मोटे मामले जल्द निपटा लिए जाएंगे।

IRDAI, Motor Insurance Claims,इंश्योरेंस क्लेम की आसानी के लिए भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) नया प्रस्ताव लाया है। (सांकेतिक तस्वीर)

इंश्योरेंस क्लेम की आसानी के लिए भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) नया प्रस्ताव लाया है।Motor Insurance Claims पाना और आसान हो जाएगा। मोटर एक्सीडेंट क्लेम के खुद से दावे के लिए मौजूदा समय में लिमिट 50,000 रुपये है। आग, घर व अन्य नॉन मोटर एक्सीडेंट के क्लेम के लिए मौजूदा लिमिट 1 लाख रुपये है। इस लिमिट से ऊपर के क्लेम के लिए बीमा सर्वेक्षक आंकलन करता है।IRDAI ने अपने नए संसोधन प्रस्ताव में सेफ्ल क्लेम की लिमिट को बढ़ाने की सिफारिश की है। इन सिफारिशों के अनुसार मोटर एक्सीडेंट के मामले में 75000 रुपए और नॉन मोटर मामले में 1.5 लाख रुपए तक का सेल्फ क्लेम किया जा सकेगा।

इसके लिए IRDAI ने इंश्योरेंस सर्वेयर्स एंड लॉस असेसर्स रेगुलेशन में संशोधन की पेशकश की है। IRDAI का कहना है कि ऐसा करने से इंश्योरेंस कंपनी को आसानी होगी और छोटे-मोटे मामले जल्द निपटा लिए जाएंगे। बता दें कि IRDAI का यह प्रस्ताव ऐसे समय पर आया है जब इंश्योरेंस कंपनियां क्लेम एक्सेस करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड ऐप के इस्तेमाल कर रही हैं।

कई कंपनियां ऐसे क्लेम्स को वीडियो के आधार पर भी निपटा देती हैं। इसमे पॉलिसी होल्डर द्वारा बनाए गए वीडियो के आधार पर कंपनियां क्लेम का निदान करती हैं। कई कंपनियों ने क्लेम का निपटारा करने के लिए सर्विस सेंटर्स के साथ भी टाई-अप कर रही हैं।इसके अलावा इस प्रस्ताव में डिजिटलीकरण के साथ सर्वेक्षणकर्ताओं के लिए ऑनलाइन लाइसेंसिंग और रिनिवल सुविधा की बात की गई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ”भारत में निवेश के लिए अभी सबसे अच्छा समय”, जानें बैंकॉक में और क्या बोले पीएम मोदी
2 मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सुस्त रहेगी भारतीय अर्थव्यवस्था की रफ्तार! आर्थिक संगठन OECD ने जताई यह संभावना
3 BSNL कर्मचारियों को नहीं मिली अक्टूबर की सैलरी, सोमवार से 80,000 कर्मचारी कर सकेंगे रिटायरमेंट का आवेदन, सरकार बचाएगी 7500 करोड़!