ताज़ा खबर
 

मूडीज ने भारत की रेटिंग लेकर दिए पॉजीटिव संकेत, लेकिन अभी अपग्रेड के लिए करना होगा इंतजार

अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत का ‘सकारात्मक’ सावरन क्रेडिट रेटिंग बरकरार रखा है लेकिन अभई इसे अपग्रेड भी नहीं किया है।

Author नई दि्लली | November 17, 2016 5:59 AM
ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज (रॉयटर्स फाइल फोटो)

अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत का ‘सकारात्मक’ सावरन क्रेडिट रेटिंग बरकरार रखा है लेकिन अभई इसे अपग्रेड भी नहीं किया है। बुधवार को एजेंसी ने  मूडीज इनवेस्टर सर्विस ने एक बयान जारी कर कहा, ‘हालांकि पिछली रेटिंग से अब तक काफी प्रगति हुई है। मूडीज का निष्कर्ष यह है कि भारतीय संस्थानों को मजबूती प्रदान करने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।’  इसमें आगे कहा गया, ‘हालांकि नीतिगत प्रयासों से सुधारों के लाभ की स्पष्ट तस्वीर नहीं दिखती, जिसमें निरंतरता, उच्च विकास और देश के कर्ज को बोझ में कमी का वादा शामिल है। अपग्रेड करने के लिए ये बहुत जरूरी है।’ स्टैंडर्ड एंड पूअर्स के बाद यह दूसरी रेटिंग एजेंसी है जिसने भारत की रेटिंग बढ़ाई नहीं है।

एजेंसी के बयान के देखते हुए लगा रहा है कि सर्विसेज का भारत की रेटिंग को लेकर पॉजीटिव आउटलुक है। उसने भारत की सॉवरेन रेटिंग बीएए3 को बनाए रखा है। एजेंसी ने उम्‍मीद जताई है कि नीति बनाने वाले  संतुलित विकास और सरकार के कर्ज को कम करने के लिए नए सुधार करती रहेगी। मूडीज में भारत अपनी रेटिंग बढ़ाने के लिए हमेशा कोशिश करता रहा है। हालांकिमूडीज ने साफ कर दिया है कि अभी वह पॉलिसीमेकर्स की तरफ से किए जा रहे बदलाव का प्रभाव दिखने तक इंतजार करेगी और उसके बाद ही भारत की सॉवरेन (संप्रभु) रेटिंग को बढ़ाएगी। यूएस बेस्‍ड एजेंसी  मूडीज ने कहा कि आर्थिक सुधार पॉलिसी एफर्ट अभी तक पॉजीटिव रिजल्‍ट नहीं दे सके हैं। पॉलिसी एफर्ट ग्रोथ को बढ़ाने में और देश के कर्ज को कम करने में अभी तक असरदार साबित नहीं हो सके हैं। हालांकि मूडीज ने भारत की बीएए3 रेटिंग को लेकर पॉजीटिव आउटलुक अपनाया है।

एजेंसी के अनुसार, ‘‘परिदृश्य हमारी इस उम्मीद को प्रतिबिंबित करता है निरंतर नीतिगत सुधारों के लागू होने से संतुलित वृद्धि को गति मिलेगी और सरकार के ऋृण बोझ में कमी लाने में मदद मिलेगी जो फिलहाल भारत की रेटिंग के रास्ते में एक बाधा है।’’ बएए3 रेटिंग कमजोर निवेश स्तर को बताता है और यह ‘कबाड़’ दर्जे से एक पायदान ही ऊपर

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App