ताज़ा खबर
 

मोदीनोमिक्स, कोरियाई आर्थिक योजना से सुधर सकती है वैश्विक अर्थव्यवस्था

दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क गुएन हाई ने आज कहा कि ‘मोदी के अर्थशास्त्र’ (मोदीनोमिक्स) और कोरिया की ‘3.0 आर्थिक योजना’ मिलकर वैश्विक अर्थव्यवस्था के सुधार में अहम् भूमिका...

Author May 19, 2015 6:15 PM
पार्क ने भारत और दक्षिण कोरिया के बीच विनिर्माण, सृजनात्मक अर्थव्यवस्था और नव ऊर्जा उद्योगों में सहयोग मजबूत करने का भी प्रस्ताव किया। (फ़ोटो-पीटीआई)

दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क गुएन हाई ने आज कहा कि ‘मोदी के अर्थशास्त्र’ (मोदीनोमिक्स) और कोरिया की ‘3.0 आर्थिक योजना’ मिलकर वैश्विक अर्थव्यवस्था के सुधार में अहम् भूमिका निभा सकते हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप के एक ट्वीट के मुताबिक हाल ही में गठित भारत-दक्षिण कोरिया मुख्य कार्यकारी मंच की पहली बैठक को संबोधित करते हुए पार्क ने कहा ‘‘वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार लाने के लिये मोदीनोमिक्स और कोरिया की 3.0 आर्थिक योजना मिलकर केन्द्रीय भूमिका निभा सकते हैं।’’

पार्क ने भारत और दक्षिण कोरिया के बीच विनिर्माण, सृजनात्मक अर्थव्यवस्था और नव ऊर्जा उद्योगों में सहयोग मजबूत करने का भी प्रस्ताव किया।

दक्षिण कोरिया विश्व के सबसे अमीर देशों में से एक है और मौजूदा बाजार मूल्य पर आधारित सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के लिहाज से विश्व अर्थव्यवस्था में वह 13वें स्थान पर है। क्रय शक्ति समानता :पीपीपी: के लिहाज से भी वह 13वें स्थान पर है।

मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ और नए सुधारों जैसी आर्थिक नीतियों की वैश्विक नेताओं ने प्रशंसा की है। कोरियाई निवेशकों को आमंत्रित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में उनके लिए कारोबार सुगम बनाने के संबंध में ज्यादा अनुकूल परिस्थितियां तैयार करने के लिए व्यक्तिगत रूप से ध्यान देने का वादा किया और कहा कि उनकी सरकार भारत को कारोबार के लिए बेहद सुगम स्थान बनाने के लिए पूरे जोरशोर के साथ काम कर रही है।

कंपनियों के मुख्य कार्यकारियों को सोल में संबोधित करते हुये मोदी ने उन्हें ज्यादा स्थिर, भरोसेमंद और पारदर्शी कराधान प्रणाली का वादा किया। उन्होंने अपनी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का भी जिक्र किया जिनमें उद्योग एवं बुनियादी ढांचा के लिए मंजूरी प्रक्रिया तेज करने और एफडीआई नीति का उदारीकरण शामिल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App