ताज़ा खबर
 

नए साल पर मोदी सरकार ने दिया ‘गिफ्ट’, लाखों लोगों को घर के साथ मिलेगी LPG, बिजली और पानी

ग्रामीण विकास सचिव अमरजीत सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) या पीमे के तहत केंद्र मैदानी और पहाड़ी इलाकों में रहने वाले लाभार्थियों के खातों में सीधे क्रमश: 1.30 लाख और 1.50 लाख रुपये स्थानांतरित करेगी।

Author नई दिल्ली | January 3, 2017 11:16 AM
अगले वित्त वर्ष में 44 लाखों को घर देने की सरकार की योजना। (representative picture)

सरकार अपने ‘ठिकाना नहीं बल्कि घर’ उपलब्ध कराने के लक्ष्य पर आगे बढ़ रही है। केंद्र सरकार ने सोमवार को अपने लक्ष्य के बारे में बताते हुए कहा कि इससे अगले वित्त वर्ष में 44 लाख लोगों को छत मिल सकेगी बल्कि उन्हें एलपीजी, बिजली और पानी के कनेक्शन भी उपलब्ध होंगे। ग्रामीण विकास सचिव अमरजीत सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) या पीमे के तहत केंद्र मैदानी और पहाड़ी इलाकों में रहने वाले लाभार्थियों के खातों में सीधे क्रमश: 1.30 लाख और 1.50 लाख रुपये स्थानांतरित करेगी। इसके अलावा सभी लाभार्थियों को शौचालय के निर्माण के लिए 12,000 रुपये अतिरिक्त उपलब्ध कराए जाएंगे। साथ ही उन्हें मनरेगा के तहत अपने घर के निर्माण के लिए 90 दिन का रोजेगार भी दिया जाएगा। यह राशि 18,000 रुपये बैठेगी।

सिन्हा ने कहा, ‘‘पहले अगले साल के लिए लक्ष्य 33 करोड़ लाभार्थियों को घर देने का था, इसे अब बढ़ाकर 44 करोड़ कर दिया गया है। प्रधानमंत्री की दिशा इस मामले में स्पष्ट है, लोगों को बेहतर जीवन मिलना चाहिए। उन्हें ठिकाना नहीं घर मिलना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारा व्यापक लक्ष्य उन लोगों को घर देना है जो बेघर हैं। वहीं कच्चे मकानों में रहने वालों को कंक्रीट का घर देना है। केंद्र ने राज्यों से ऐसे लाभार्थियों को जमीन स्थानांतरित करने को कहा है जो बेघर हैं।’’ एक अनुमान के अनुसार इन मकानों का जिन लोगों के लिए निर्माण किया जा रहा है उनमें से 60 प्रतिशत अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से हैं।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए साल की पूर्व संध्या पर देश को संबोधित करते हुए कि कई नई स्कीमें लॉन्च की। इन स्कीमों में प्रधानमंत्री आवाज योजना के तहत भी दो नई स्कीमें शुरू की गई है। पहली स्कीम के तहत शहर में घर बनाने के लिए नौ लाख रुपए के लोन पर बयाज दर में चार फीसदी और 12 लाख के लोन पर तीन फीसदी की छूट दी जाएगी। इसके साथ ही गांव में नया घर बनाने के लिए दो लाख रुपए के लोन पर बयाज दर में तीन फीसदी की छूट मिलेगी।

जानिए क्या है स्कीम के फायदे

प्रधानमंत्री आवास योजना नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकंक्षी परियोजनाओं में शामिल है। इस स्कीम के अंतर्गत सरकार की मंशा 2022 के अंत तक 2 करोड़ लोगों को घर उपलब्ध कराने की है।

– यह स्कीम लो इनकम ग्रुप (LIG) और इकोनॉमिकली वीकर सेक्शन (EWS) श्रेणी में आने वाले लोगों से जुड़ी हुई है। इस स्कीम में महिलाओं, अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों को सीधा लाभ मिलेगा।

– इस स्कीम के तहत हर लाभार्थियों को केंद्र सरकार की ओर से 1 लाख रुपए प्रदान किए जाएंगे।

– हाउसिंग स्टाक के लिए केंद्र सरकर की ओर से अतिरिक्त डेढ लाख रुपए की वित्तीय मदद दी जाएगी।

– प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर लेने के लिए लाभार्थी को रियायती दर पर कर्ज मिलेगा। इसके तहत लाभार्थी को 6 लाख रुपए के तक का कर्ज दिया जाएगा। कर्ज की दर 6.5 फीसदी रखी गई है। अगर किसी को 6 लाख से ज्यादा का कर्ज लेना हो तो उसे ब्याज का मार्केट रेट लागू होगा।

वीडियो: खाने के शौकीनों को केंद्र सरकार की राहत- “रेस्तरां की सर्विस अच्छी न लगे तो न चुकाएं सर्विस चार्ज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App