ताज़ा खबर
 

Maruti Suzuki इंडिया कर रही है शेयर-विभाजन पर विचार

शेयरधारकों की ओर से शेयर-विभाजन की मांग के बीच देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने गुरुवार (8 सितंबर) को कहा कि वह इस मामले को कंपनी के निदेशक मंडल के सामने रखेगी।
Author नई दिल्ली | September 8, 2016 22:57 pm

शेयरधारकों की ओर से शेयर-विभाजन की मांग के बीच देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने गुरुवार (8 सितंबर) को कहा कि वह इस मामले को कंपनी के निदेशक मंडल के सामने रखेगी। एमएसआई के अध्यक्ष आर सी भार्गव ने यहां सालाना आम बैठक में शेयरधारकों के प्रश्नों के जवाब में कहा, ‘‘मुझे लगता है कि सभी शेयरधारकों की शेयर विभाजन की मांग है और निश्चित तौर पर मैं आश्वस्त कर सकता हूं कि हम इस मामले को निदेशक मंडल के सामने रखेंगे।

कंपनी के शेयरधारक शेयर विभाजन की यह कहते हुए मांग कर रहे हैं कि ऐसी पहल से मारच्च्ति सुजुकी इंडिया के शेयरों में खुदरा भागीदारी बढ़ेगी। कंपनी का शेयर आज के अपराह्न कारोबार के दौरान बंबई शेयर बाजार में 1.61 प्रतिशत चढ़कर 5,422 रच्च्पए के अब तक के उच्चतम स्तर पर चल रहा है।

भार्गव ने कहा कि कंपनी के निदेशक मंडल ने चालू वित्त वर्ष के लिए 35 रच्च्पए प्रति शेयर का लाभांश देने की घोषणा की है जो पिछले साल के 25 रच्च्पए से अधिक है। येन में उतार-चढ़ाव और कंपनी पर इसके असर के बारे में शेयरधारकों के प्रश्नों का जवाब देते हुए भार्गव ने कहा कि एमएसआई आयातित कल-पुर्जों के उत्पादन के स्थानीकरण के असर से निपटने पर काम कर रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम येन के उतार-चढ़ाव पर नियंत्रण नहीं कर सकते लेकिन हेजिंग के जरिए और आंशिक तौर पर आयात सामग्री कम कर इसके असर से निपट सकते हैं। हम ये चीजें कर रहे हैं।’ इस साल कंपनी अनुसंधान और विकास पर पूंजी व्यय के संबंध में भार्गव ने कहा कि एमएसआई चालू वर्ष में 900 करोड़ रच्च्पए का निवेश करेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘इस साल के लिए अनुसंधान एवं विकास पर पूंजीव्यय का बजट 900 करोड़ रच्च्पए है। यह अनुसंधान एवं विकास केंद्र के अतिरिक्त है जो रोहतक में लगभग पूरा हो गया है। रोहतक को मिलाकर पूंजीव्यय 2,000 करोड़ रुपए से अधिक है।’ मूल कंपनी सुजुकी मोटर कार्प को रायल्टी के भुगतान के संबंध में भार्गव ने कहा कि कुल बिक्री के मुकाबले पांच प्रतिशत के आधार पर इसका भुगतान किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘वितारा ब्रेजा समेत सभी नए माडलों के लिए फैसला किया गया है कि भारतीय रच्च्पए में यह पांच प्रतिशत होगा न कि येन में। यह उत्पाद के फैक्ट्री मूल्य पर आधारित होगा।’अब तक कंपनी की सभी सालाना आम बैठक में हिस्सा लेने वाले सुजुकी मोटर कार्प के अध्यक्ष ओसामु सुजुकी इस बार जापान में आवश्यक काम होने के कारण नहीं आ पाए। भार्गव ने कहा कि सुजुकी ने कंपनी सचिव को निर्देश दिया है कि वह कुछ शेयरधारकों को परिसरों में प्रवेश में होने में आने वाली दिक्कतों पर विचार करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.