ताज़ा खबर
 

विनिर्माण क्षेत्र के कर्मचारियों को 5.2% अधिक पगार, 2017 में देश के औसत वेतन में आईटी के बाद दूसरा स्थान

विनिर्माण क्षेत्र के कर्मचारियों को देश के औसत वेतन से 5.2% अधिक पगार

Author नई दिल्ली | September 25, 2018 1:27 PM

विनिर्माण क्षेत्र 2017 में भारत में सूचना प्रौद्योगिकी के बाद दूसरा सबसे ऊंचा वेतन देने वाला क्षेत्र रहा। यह आईटी क्षेत्र के बाद एकमात्र ऐसा क्षेत्र है, जिसने 200 रुपये प्रति घंटा से अधिक का औसत वेतन दिया। आॅनलाइन करियर और रिक्रूटमेंट सॉल्यूशन कंपनी मॉन्सटर इंडिया की विनिर्माण क्षेत्र पर ताजा ”वेतन सूचकांक” रिपोर्ट के मुताबिक, विनिर्माण क्षेत्र इस अध्ययन में शामिल आठ प्रमुख क्षेत्रों में से एकमात्र ऐसा क्षेत्र है, जिसमें पिछले वर्ष प्रतिघंटा औसत वेतन में 9 प्रतिशत की वृद्धि हुयी।

विनिर्माण क्षेत्र ने 2017 में 230.9 रुपये प्रति घंटा का वेतन दिया। यह देश में विभिन्न क्षेत्रों के कुल मिला कर औसत वेतन के मुकाबले 5.2 प्रतिशत अधिक है। इस दौरान देश में विभिन्न क्षेत्रों में कुल औसत वेतन 219.4 रुपये प्रति घंटा रहा। यह रिपोर्ट जनवरी 2015 से दिसंबर 2017 के दौरान जुटाए गए आंकड़ों पर आधारित है। इसमें 20,994 प्रतिभागियों को शामिल किया गया है।

रिपोर्ट में विनिर्माण क्षेत्र के अलावा निर्माण एवं तकनीकी परामर्श, शिक्षा, अनुसंधान, स्वास्थ्यसेवा, सामाजिक कार्य, लॉजिस्टिक्स और संचार क्षेत्र समेत अन्य शामिल है।
वेतन के लिहाज से देश का सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र सबसे अधिक आकर्षक है। इस क्षेत्र के कर्मचारियों को 317.6 रुपये प्रति घंटा वेतन मिलता है। हालांकि पिछले वर्ष के मुकाबले इसमें 17.8 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी। मॉन्स्टरडॉटकॉम, एपीएसी एवं खाड़ी क्षेत्र के सीईओ अभिजीत मुखर्जी ने कहा, ” चौथी पीढ़ी के उद्योग (डिजिटल विनिर्माण) की स्वीकार्यता बढ़ रही है और यह विनिर्माण उद्योग को नया आकार दे रही है। उन्होंने कहा कि भारत में दुनिया की सबसे बड़ी विनिर्माण अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनने की क्षमता है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App