ताज़ा खबर
 

महिंद्रा के निवेशकों के लिए लकी साबित हुआ मंगलवार, हो गया बड़ा मुनाफा

फरवरी में वाहनों की बिक्री को लेकर परिदृश्य में सुधार से वाहन कंपनियों के शेयरों में लिवाली बनी हुई है।

sensex, nifty, bse, nseसेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक लाभ में महिंद्रा एंड महिंद्रा रही (Photo-indian express )

ऑटो सेक्टर की बड़ी कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा के लिए शानदार मंगलवार रहा। इस दिन महिंद्रा के शेयर में जबरदस्त बढ़त रही। इस वजह से निवेशकों की दौलत भी बढ़ गई है।

कितनी हुई बढ़त: सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक लाभ में महिंद्रा एंड महिंद्रा रही। इसमें 4.98 प्रतिशत की तेजी आयी। महिंद्रा का शेयर भाव 859.90 रुपये पर पहुंच गया है। एनटीपीसी (3.83 प्रतिशत), बजाज ऑटो (3.53 प्रतिशत), टेक महिंद्रा (3.44 प्रतिशत) में अच्छी तेजी रही। लाभ में रहने वाले अन्य प्रमुख शेयरों में टीसीएस, मारुति, इन्फोसिस, एचसीएल टेक, नेस्ले और भारती एयरटेल शामिल हैं। दूसरी तरफ, ओएनजीसी, एचडीएफसी, डा. रेड्डीज, पावर ग्रिड और एसबीआई नुकसान में रहे। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 25 लाभ के साथ बंद हुए।

सेंसेक्स और निफ्टी का हाल: सेंसेक्स का घरेलू और वैश्विक स्तर पर सकारात्मक रुख के बीच वाहन, बैंक और आईटी कंपनियों के शेयरों में तेज लिवाली से बीएसई सेंसेक्स मंगलवार को 447 अंक की मजबूती के साथ 50,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर गया।

तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 447.05 अंक यानी 0.90 प्रतिशत की बढ़त के साथ 50,296.89 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान इसमें 633 अंक का उतार-चढ़ाव आया। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 157.55 अंक यानी 1.07 प्रतिशत की बढ़त के साथ 14,919.10 अंक पर बंद हुआ।

बढ़त की वजह: विश्लेषकों के अनुसार तीसरी तिमाही में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में वृद्धि से निवेशक उत्साहित हैं। साथ ही वैश्विक बांड बाजारों में पिछले सप्ताह के उठा-पटक के बाद स्थिरता से भी धारणा मजबूत हुई है।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘फरवरी में वाहनों की बिक्री को लेकर परिदृश्य में सुधार से वाहन कंपनियों के शेयरों में लिवाली बनी हुई है। तेजी में आईटी कंपनियों का भी योगदान रहा।’’

Next Stories
1 स्पेक्ट्रम खरीदने की रेस में आगे निकली मुकेश अंबानी की Reliance Jio, Airtel को पछाड़ा
2 मेडिक्लेम का विकल्प नहीं कोरोना स्वास्थ्य बीमा, दोनों में हैं ये बड़े अंतर
3 कोरोना काल में ‘गरीब’ हुए पतंजलि के MD आचार्य बालकृष्ण! दौलत में आई बड़ी गिरावट
ये पढ़ा क्या?
X