scorecardresearch

LIC Bets on Adani: अडानी ग्रुप में LIC का निवेश दो साल में करीब पांच गुना बढ़ा, 74142 करोड़ लगा चुकी है एलआईसी

LIC on Adani Group: सितंबर 2020 के बाद से केवल आठ तिमाहियों में एलआईसी ने अडानी समूह की सात लिस्टेड कंपनियों में से चार में अपनी हिस्सेदारी में तेजी से वृद्धि की है।

LIC Bets on Adani: अडानी ग्रुप में LIC का निवेश दो साल में करीब पांच गुना बढ़ा, 74142 करोड़ लगा चुकी है एलआईसी
अडानी समूह में एलआईसी निवेश: अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी(ANI PHOTO)

LIC Investment in Adani Group: अडानी ग्रुप (Adani Group) में बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) लगातार निवेश बढ़ा रही है। सितंबर 2020 के बाद से केवल आठ तिमाहियों में एलआईसी ने अडानी समूह की सात लिस्टेड कंपनियों में से चार में अपनी हिस्सेदारी में तेजी से वृद्धि की है।

Adani Group में LIC की हिस्सेदारी 3.9 फीसदी

द इंडियन एक्सप्रेस ने पाया कि स्टॉक एक्सचेंज में अडानी समूह की कंपनियों की फाइलिंग से पता चला कि सात कंपनियों में एलआईसी की हिस्सेदारी का कुल मूल्य आज की तारीख में 74,142 करोड़ रुपये है। यह अडानी समूह के कुल बाजार मूल्य 18.98 लाख करोड़ रुपये का 3.9 फीसदी है।

फ्लैगशिप अडानी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprises) में सितंबर 2020 में एलआईसी की हिस्सेदारी 1 फीसदी से कम थी लेकिन अब ये हिस्सेदारी बढ़कर 4.02 फीसदी हो गई है। वहीं अडानी टोटल गैस (Adani Total Gas) में भी सितंबर 2020 में एलआईसी की हिस्सेदारी 1 प्रतिशत से कम थी जो अब बढ़कर 5.77 फीसदी हो गई है।

सितंबर 2020 से लेकर सितंबर 2022 के बीच अडानी ट्रांसमिशन में एलआईसी की हिस्सेदारी 2.42 फीसदी से बढ़कर 3.46 फीसदी हो गई है। वहीं अडानी ग्रीन एनर्जी (Adani Green Energy) में यह सितंबर 2020 में 1 फीसदी से कम थी, जो अब बढ़कर 1.15 फीसदी हो गई है। अडानी पोर्ट्स में एलआईसी की हिस्सेदारी 9.61 प्रतिशत है। वहीं दो अन्य कंपनियां अडानी पावर और अडानी विल्मर हैं, जिसमे एलआईसी की हिस्सेदारी 1 प्रतिशत से कम है।

अडानी समूह में एलआईसी की हिस्सेदारी में 10 गुना की वृद्धि

अडानी समूह में एलआईसी की हिस्सेदारी में पिछले 2 सालों में करीब 10 गुना की वृद्धि हुई है। अडानी समूह में एलआईसी की हिस्सेदारी सितंबर 2020 में 7,304 करोड़ रुपये थी, जो सितंबर 2022 में बढ़कर 74,142 करोड़ रुपये हो गई है। ये अडानी समूह की कुल बाजार मूल्य का 7.8 प्रतिशत है। बता दें कि अडानी समूह ने एनडीटीवी का भी अधिग्रहण कर लिया है।

बता दें कि पिछले दो वर्षों में एलआईसी ने अडानी समूह की कंपनियों में शेयर खरीदे हैं, जिससे समूह का बाजार पूंजीकरण भी बढ़ा है। 30 सितंबर 2020 को अडानी समूह का मार्केट कैप लगभग 2.78 लाख करोड़ रुपये था, जो अब सात गुना बढ़कर 18.98 लाख करोड़ रुपये हो गया है।

अडानी समूह की कंपनियों में एलआईसी का निवेश सभी इक्विटी म्यूचुअल निवेशों की होल्डिंग से पांच गुना से अधिक है। 31 अक्टूबर 2022 तक केवल 15,701 करोड़ रुपये के (करीब 1 प्रतिशत) इक्विटी फंड का अडानी समूह में निवेश था।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 02-12-2022 at 08:20:19 am
अपडेट