ताज़ा खबर
 

कर्ज के बोझ में दबी दिग्गज डेयरी कंपनी Kwality, स्नैक्स किंग HALDIRAM ने लगाई 130 करोड़ की बोली

Kwality insolvency: दिवाला प्रक्रिया से गुजर रही क्वॉलिटी के लिए हल्दीराम समूह ने 130 करोड़ रुपये की बोली लगाई है। इसी महीने बाद में क्वॉलिटी के ऋणदाता हल्दीराम की बोली पर मतदान करेंगे।

Author नई दिल्ली | Updated: October 11, 2019 10:31 AM
क्वॉलिटी के अधिग्रहण की दौड़ में सिर्फ हल्दीराम, लगाई 130 करोड़ रुपये की बोली।

Kwality insolvency, Haldiram: कर्ज के बोझ से दबी क्वॉलिटी के अधिग्रहण की दौड़ में सिर्फ एक कंपनी दिल्ली की हल्दीराम ही शामिल है। सूत्रों ने बृहस्पतिवार को कहा कि दिवाला प्रक्रिया से गुजर रही क्वॉलिटी के लिए हल्दीराम समूह ने 130 करोड़ रुपये की बोली लगाई है। इसी महीने बाद में क्वॉलिटी के ऋणदाता हल्दीराम की बोली पर मतदान करेंगे।

बहुराष्ट्रीय परामर्शक कंपनी ईवाई से जुड़े शैलेन्द्र अजमेरा को दिवाला प्रक्रिया के लिए समाधान पेशेवर (आरपी) नियुक्त किया गया है। राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) के आदेश के बाद क्वॉलिटी के खिलाफ दिवाला प्रक्रिया दिसंबर, 2018 में शुरू हुई थी। वैश्विक निजी इक्वटी कंपनी केकेआर ने क्वॉलिटी के खिलाफ दिवाला अपील दायर की थी। क्वॉलिटी ने 2016 में केकेआर इंडिया फाइनेंशियल र्सिवसेज से 300 करोड़ रुपये जुटाए थे।

इसके अलावा उसे 220 करोड़ रुपये के लिए अतिरिक्त प्रतिबद्धता भी मिली थी। क्वॉलटी ने यह राशि विस्तार योजना और उपभोक्ता खंड में उतरने के लिए जुटाई थी। ऋणदाताओं की समिति (सीओसी) की बुधवार को बैठक हुई जिसमें निपटान प्रक्रिया की समीक्षा की गई और मूल्यांकन रिपोर्ट पर विचार किया गया। सूत्रों ने बताया कि क्वॉलिटी के लिए बोली लगाने वाली एकमात्र कंपनी हल्दीराम है। सीओसी समाधान योजना पर अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में मतदान करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Reliance Jio आखिर क्यों वसूल रहा Airtel, Vodafone पर कॉल करने वालों से पैसे? समझिए पूरा गणित
2 Bank of India, OBC व Bank of Maharashtra समेत 6 बैंकों ने घटाई कर्ज पर ब्याज दर, Home, Auto और बाकी लोन होंगे सस्ते
3 ‘मासिक भुगतान करो नहीं तो नहीं देंगे ईंधन’, Air India को तेल कंपनियों का खुला अल्टीमेटम