ताज़ा खबर
 

वर्क फ्रॉम होम की चर्चा पर बोले माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, मैं तो ‘वर्क फ्रॉम बेड’ करता था, अब छोड़ दिया

सत्या नडेला ने कहा कि पहले मैं अपने बेड से ही काम किया करता था। लेकिन अब मैं अपनी बेटियों के साथ ऑफिस शेयर कर रहा हूं, जो काफी अच्छा लग रहा है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी बेटियों की मदद से ऑफिस का सेटअप तैयार करने का काम किया।

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला

कोरोना वाय़रस संक्रमण के खतरे को देखते हुए दुनिया भर की कंपनियों ने ‘वर्क फ्रॉम होम’ की नीति को अपनाया है। कॉरपोरेट कल्चर के लिए यह भले ही नई बात है और आपदा के दौर में अपनाई गई व्यवस्था है, लेकिन माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला इससे भी कहीं आगे ‘वर्क फ्रॉम बेड’ करते रहे हैं। हाल ही में एक इंटरव्यू में उन्होंने इस बात का खुलासा किया था। फिलहाल माइक्रोसॉफ्ट के कर्मचारी भी कोरोना के संकट के बीच घर से ही काम को अंजाम दे रहे हैं। सीईओ सत्या नडेला ने तहा कि वह पहले वर्क फ्रॉम बे़ड करते थे, लेकिन अब वह बेटियों के साथ ऑफिस शेयर करते हैं।

उन्होंने कहा कि पहले मैं अपने बेड से ही काम किया करता था। लेकिन अब मैं अपनी बेटियों के साथ ऑफिस शेयर कर रहा हूं, जो काफी अच्छा लग रहा है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी बेटियों की मदद से ऑफिस का सेटअप तैयार करने का काम किया। बेटियों की मदद से मैंने कंप्यूटर और उसके आसपास अन्य चीजों को सेट किया। उससे पहले मैं बेड से ही काम करता था, लेकिन अब रीयल डेस्क से काम करता हूं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के लॉकडाउन के चलते दुनिया भर की कंपनिय़ां वर्क फ्रॉम होम की नीति का पालन कर रही हैं। यही नहीं भविष्य में इस नीति को आगे भी बढ़ाने पर विचार चल रहा है। वर्फ फ्रॉम होम से ऑफिस के रखरखाव में लागत कम होने, आवाजाही के झंझट से मुक्ति और वर्क प्रोडक्टिविटी में भी इजाफा होने की बात की जा रही है। हाल ही में एक रिपोर्ट में भी यह बात कही गई थी कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी आने वाले दिनों में भी वर्क फ्रॉम होम कंपनियों की ओर से जारी रह सकता है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: जानें-कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर । जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल ।  कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 जन धन योजना में 10,000 से भी ज्यादा हो सकती है ओवरड्राफ्ट की लिमिट, अन्य बचत खातों पर भी मिलेगी सुविधा