ताज़ा खबर
 

जानिए कैसे क्लेम कर सकते है एचआरए टैक्स में रियायत

नौकरीपेशा लोगों के लिए एचआरए उनकी सैलरी का एक अहम हिस्सा होता है। वहीं एचआरए पूरी तरह से नहीं लेकिन आंशिक रूप से टैक्सेबल होता है। ऐसे में एचआरए पर टैक्स पर छूट कैसे हासिल कर सकते हैं जानते है इसके बारे में।

प्रतीकात्मक फोटो।

नौकरीपेशा लोगों के लिए एचआरए उनकी सैलरी का एक अहम हिस्सा होता है। वहीं एचआरए पूरी तरह से नहीं लेकिन आंशिक रूप से टैक्सेबल होता है। वहीं एचआरए के कुछ हिस्से को इंकम टैक्स ऐक्ट के सेक्शन 10(13A) की वजह से टैक्स में छूट मिल जाती है। दूसरी तरफ एचआरए उन लोगों के लिए पूरी तरह से टैक्सिबल होता है जो अपने घर में रहते हैं या किराया नहीं देते। ऐसे में आप एचआरए पर टैक्स पर छूट कैसे हासिल कर सकते हैं जानते है इसके बारे में।

किसे मिलता है एचआरए ?
एचआरए अमूमन सभी नौकरीपेशा लोगों की सैलरी या सीटीसी का हिस्सा होता है। वहीं इस पर टैक्स बेनिफिट का लाभ उन लोगों को मिलता है जो किराए के मकान में रहते हैं। वहीं सेल्फ-इंप्लोइड प्रोफेशनल्स एचआरए पर टैक्स बेनिफिट का फायदा नहीं ले सकते।

कितनी होती है छूट?
इस पर छूट 3 तरह से मिलती है। पहला ऐक्चुअल एचआरए पर छूट, दूसरा मेट्रोसिटीज में रह रहे लोगों को 50 फीसद और नॉन-मेट्रोसिटीज में रहने वालों को 40 फीसद छूट और तीसरा ज्यादा किराया भरने से सालाना सैलरी का 10 फीसद से ज्यादा हो। इस तीन कंडिशन्स में आप टैक्स पर छूट प्राप्त कर सकते हैं।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32 GB (Venom Black)
    ₹ 8199 MRP ₹ 11999 -32%
    ₹410 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback

डॉक्युमेंट्सट
एचआरए टैक्स पर छूट पाने के लिए आपको रेंट की रसीद जमा कराना अनिवार्य है। बिना रसीद या रेंट एग्रीमेंट के आप छूट नहीं का लाभ नहीं ले सकते। वहीं अगर कोई एक लाख रुपये सालाना या 15 हजार रुपये महीना, किराया भरता है तो मकान-मालिक की पैन कार्ड डिटेल्स जमा कराना भी जरूरी है।
स्पेशल केसिस- कुछ केसिस में आप टैक्स बेनिफिट का लाभ ले सकते हैं जो इस प्रकार है।

परिवार वालों के लिए दे रहे रेंट- एचआरए पर टैक्स बेनिफिट आप अपने घर में रहकर नहीं ले सकते। वहीं अगर आप अपने परिवार, मुख्य रूप से माता-पिता को किराया दे रहे हैं तो आप छूट पा सकते हैं। वहीं पति या पत्नि के लिए एकोमोडेशन देना छूट के दायरे में नहीं आता।

घर होते हुए दूसरे शहर में रह रहे हैं- टैक्स में छूट आप तब भी क्लेम कर सकते हैं जब आपके नाम कोई घर है और आप किसी दूसरे शहर में रह रहे हों। वहीं होम लोन की किस्त भरने वालों को भी लाभ मिलता है।

एचआरए नहीं मिलता पर रेंट भरते हैं- कई लोगों के सैलरी स्ट्रक्चर में एचआरए नहीं होता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं होता कि वह किराया नहीं भरते। ऐसी स्थिति में वह शख्स इंकम टैक्स ऐक्ट सेक्शन 80(GG) के तहत फायदा ले सकता है। इस काम के लिए उसे फॉर्म 10B भरना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App