ताज़ा खबर
 

जानें, अब क्या करेंगे फ्यूचर ग्रुप के किशोर बियानी? मुकेश अंबानी को कारोबार बेच रिटेल बिजनेस से हुए बेदखल

अब किशोर बियानी के पास सिर्फ 4,000 करोड़ रुपये का एफएमसीजी कारोबार ही बचा है, जिसे वह फ्यूचर कन्जयूमर के नाम से चलाते हैं। इस कंपनी की मुखिया किशोर बियानी की बेटी अशनि बियानी हैं, जो फ्यूचर कन्जयूमर की एमडी हैं।

kishore biyani newsजानें, रिटेल बिजनेस बेचने के बाद अब क्या करेंगे किशोर बियानी

देश में ‘रिटेल किंग’ के तौर पर नाम कमाने वाले किशोर बियानी को अपना कोर बिजनेस रिलायंस इंडस्ट्रीज के हाथों बेचने पड़ा है। 24,713 करोड़ रुपये की इस डील से किशोर बियानी 13,000 करोड़ रुपये का कर्ज चुकाने में सफलता हासिल की है, लेकिन इसके साथ ही रिटेल के बिजनेस से वह बाहर भी हो गए हैं। ऐसे में अब सबसे बड़ा सवाल जो उठ रहा है, वह यह कि आखिर किशोर बियानी इस डील के बाद क्या करेंगे? अब उनके पास सिर्फ 4,000 करोड़ रुपये का एफएमसीजी कारोबार ही बचा है, जिसे वह फ्यूचर कन्जयूमर के नाम से चलाते हैं। इस कंपनी की मुखिया किशोर बियानी की बेटी अशनि बियानी हैं, जो फ्यूचर कन्जयूमर की एमडी हैं।

बिजनेस टुडे से बातचीत करते हुए किशोर बियानी के एक करीबी ने कहा कि उनके पास हमेशा से प्लान रहे हैं। बियानी के दोस्त और उनके सहकर्मी कहते हैं कि वह कभी रुकने वाले व्यक्ति नहीं रहे हैं। उनके एक पारिवारिक मित्र ने कहा कि वह भले ही फिलहाल कुछ थके लग रहे हैं, वह कुछ वक्त आराम करेंगे। हालांकि यह लंबा चलने वाला नहीं है। उनके एक अन्य करीबी ने कहा कि किशोर बियानी अगले 2 से 3 सालों में फिर से कुछ कारोबार शुरू कर सकते हैं। इस बार वह किसी इन्वेस्टर के जरिए कामकाज की शुरुआत कर सकते हैं। रिटेल इंडस्ट्री के एक्सपर्ट किशोर बियानी को हमेशा ही प्रयोगों के लिए जानते रहे हैं।

शॉपर्स स्टॉप के पूर्व एमडी गोविंद श्रीखंडे ने कहा, ‘मैं उन्हें हमेशा एक ऐसे शख्स के तौर पर देखता रहा हूं, जो हमेशा कुछ नया करते रहे हैं। बिग बाजार उन्होंने खड़ा किया था, जो देश भर में लोकप्रिय हुआ पहला हाइपर मार्केट था। मुझे याद है कि क्रिकेटर कई बार पैंटालून का प्रचार करते थे, जब रिटेलर्स के सिलेब्रिटी एंडोर्समेंट के बारे में सोचा भी नहीं जाता था।’ हालांकि किशोर बियानी के आलोचक कहते हैं कि उनकी असफलता की वजह यह है कि वह एक साथ कई काम करते रहे हैं, जिसके चलते ऐसा होता रहा है। अपने रिटेल बिजनेस को रिलायंस के हाथों बेचने के बाद किशोर बियानी के पास फ्यूचर कन्ज्यूमर का कारोबार ही बचेगा। बीते कई सालों से किशोर बियानी एफएमसीजी बिजनेस में रुचि लेते रहे हैं, लेकिन इस दिशा में उन्हें बहुत ज्यादा सफलता नहीं मिली है।

रिलायंस से डील के बाद फ्यूचर ग्रुप के शेयरों में उछाल: इस बीच फ्यूचर रिटेल बिजनेस के रिलायंस के हाथों में जाने के बाद से फ्यूचर ग्रुप के शेयरों में तेजी देखने को मिली है। रिलायंस के साथ डील की घोषणा के बाद फ्यूचर रिटेल लिमिटेड के शेयर में 17 फ़ीसदी का उछाल देखने को मिला है। इसके अलावा फ्यूचर इंटरप्राइजेज लिमिटेड के शेयर ने 5% की बढ़ोतरी के साथ अपर प्राइज लिमिट को छुआ। फ्यूचर लाइफ़स्टाइल फैशन और फ्यूचर सप्लाई चेन सॉल्यूशंस के शेयर भी 5% तक बढ़ गए, जबकि फ्यूचर कंज्यूमर लिमिटेड के शेयर में 4.8% का उछाल देखने को मिला। फ्यूचर रिटेल को खरीदने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयर भी 1.1% बढ़ गए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उड्डयन मंत्री ने दिए बड़े पैमाने पर निजीकरण के संकेत, कहा- सरकार को न एयरपोर्ट चलाने चाहिए और न एयरलाइंस
2 LIC के ऑनलाइन टर्म प्लान की प्रीमियम है बेहद कम, जानें- कैसे आपको मिल सकता है फायदा और बचेंगे क्या चार्ज
3 भारत पेट्रोलियम के निजीकरण के बाद भी ग्राहकों को मिलेगी एलपीजी की सब्सिडी? जानें- क्या है वजह
IPL 2020 LIVE
X