ताज़ा खबर
 

महीने भर के लिए लेना है लोन, तो ओवरड्राफ्ट की सुविधा है काफी अच्छी

दक्षिण भारतीय राज्य ओवरड्राफ्ट सुविधा का सबसे ज्यादा लाभ उठा रहे हैं। बैंक में अगर आपका सैलरी/चालू खाता है तो ओवरड्राफ्ट सुविधा आपको आसानी से मिल जाएगी।

ओवरड्राफ्ट सुविधा के तहत बैंक हम छोटे लोन की सुविधा प्रदान करते हैं। (फोटो: इंडियन एक्सप्रेस)

हम सभी कई बार ऐसी स्थिति में फंस जाते है जब हमें पैसों की बेहद जरूरत होती है। ऐसे वक्त में हम क्रेडिट कार्ड और पसर्नल लोन का सहारा लेते हैं। या फिर दोस्तों और रिश्तेदारों से संपर्क करते हैं लेकिन कई बार हमें कहीं से भी मदद नहीं मिलती।

वहीं अगर हम पर्सनल लोन की बात करें तो ऐसे लोन पर ब्याज दर बहुत ज्यादा होती है जिसे चुका पाना हमारे लिए काफी भारी पड़ जाता है। और फिर पर्सनल लोन आसानी से भी नहीं मिलते। लेकिन हम में से बहुत कम लोगों को ही पता होगा कि बैंक हम छोटे लोन की सुविधा प्रदान करते हैं। यह लोन महीने भर के लिए दिए जाते हैं।

बैंक हमें ओवरड्राफ्ट की सुविधा देते है। इसके तहत हमें एक छोटा फंड दिनों, महीनों और वर्षों के लिए उपलब्ध करवाया जाता है। हालांकि यह फंड हम कभी भी चुका सकते हैं और सबसे बड़ी बात हमें इसमें ईएमआई नहीं देनी होती बल्कि सिर्फ ब्याज देना होता है।

दक्षिण भारतीय राज्य ओवरड्राफ्ट सुविधा का सबसे ज्यादा लाभ उठा रहे हैं। बैंक में अगर आपका सैलरी/चालू खाता है तो ओवरड्राफ्ट सुविधा आपको आसानी से मिल जाएगी। अगर आपका संबंधित बैंक में एफडी नहीं है तो इस लोन के लिए खाताधारक अपने एसेट्स को गिरवी रख सकते हैं। इसके बाद सामान्य प्रक्रियाओं को पूरा करते हुए आपको लोन दे दिया जाता है। हालांकि आजकल बैंक अपने अच्छे ग्राहकों को पहले से ही इसकी सुविधा दे रहे हैं।

क्या है इसका फायदा?

ओवरड्राफ्ट के जरिए लोग लेने पर आपको कम ब्याज दर देनी पड़ती है। इसके साथ ही यह सुविधा टाइम बॉन्ड पर आधारित है। यानि कि आप जितने समय के लिए यह लोन लेंगे आपको उतने समय के लिए ही का ब्याज चुकाना पड़ेगा। वहीं पर्सनल लोन की समयसीमा बैंक द्वारा पहले से तय की जाती है। इसके तहत अगर समय पर किश्त नहीं चुकाई गई तो बैंक खाताधारकों से पेनल्टी लेते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App