ताज़ा खबर
 

मुकेश अंबानी के रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ डील में फ्यूचर ग्रुप को सिंगापुर कोर्ट से एक और झटका, जेफ बेजोस को मिली बढ़त

सिंगापुर आर्बिट्रेशन सेंटर की ओर से रिलायंस के साथ डील को होल्ड करने के आदेश के बाद यह फैसला फ्यूचर ग्रुप के लिए चिंताजनक है। बता दें कि फ्यूचर ग्रुप ने 24,713 करोड़ रुपये में रिलायंस ग्रुप के साथ अपने रिटेल बिजनेस को बेचने की डील की थी।

kishore biyaniफ्यूचर ग्रुप के मुखिया किशोर बियानी

रिलायंस और फ्यूचर ग्रुप की डील को रोकने का आदेश देने के साथ ही सिंगापुर स्थित इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर ने अपने अंतरिम आदेश में एक और बात कही है। इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक आर्बिट्रेशन सेंटर ने फ्यूचर ग्रुप को एक और झटका देते हुए कहा है कि वह अमेजॉन की मंजूरी के बिना फ्यूचर रिटेल के शेयर्स को किसी को ट्रांसफर नहीं कर सकता। बता दें कि अमेजॉन ने बीते साल फ्यूचर रिटेल की प्रमोटिंग कंपनी फ्यूचर कूपन्स में 1,500 करोड़ रुपये के निवेश के साथ 49 पर्सेंट हिस्सेदारी खरीदी है। फ्यूचर कूपन्स की फ्यूचर रिटेल में 5 फीसदी की हिस्सेदारी है।

सिंगापुर आर्बिट्रेशन सेंटर की ओर से रिलायंस के साथ डील को होल्ड करने के आदेश के बाद यह फैसला फ्यूचर ग्रुप के लिए चिंताजनक है। बता दें कि फ्यूचर ग्रुप ने 24,713 करोड़ रुपये में रिलायंस ग्रुप के साथ अपने रिटेल बिजनेस को बेचने की डील की थी। इस पर अमेजॉन ने यह कहते हुए ऐतराज जताया था कि यह 2019 में उसकी ओर से फ्यूचर ग्रुप में किए गए निवेश की शर्तों के खिलाफ है। अमेजॉन का कहना है कि निवेश की शर्तों में यह बात भी शामिल थी कि फ्यूचर रिटेल की हिस्सेदारी बेचने के लिए फर्स्ट राइट टू रिफ्यूज का अधिकार उसके पास होगा।

ऐसे में जेफ बेजोस की लीडरशिप वाली कंपनी का कहना था कि इस तरह से डील करके फ्यूचर ग्रुप ने उसके साथ हुए करार का उल्लंघन किया है। इसी आरोप के साथ उसने सिंगापुर की आर्बिट्रेशन कोर्ट में अर्जी दी थी, जिसने डील को होल्ड करने का फैसला दिया है। बता दें कि सिंगापुर कोर्ट ने भले ही डील को रोकने का आदेश दिया है, लेकिन उसका यह फैसला भारत में सीधे तौर पर लागू नहीं होता है।

ऐसे में इस बात की संभावना है कि अमेजॉन की ओर से जल्दी ही भारत के किसी हाई कोर्ट या फिर सुप्रीम कोर्ट का रुख किया जा सकता है और आर्बिट्रेशन के फैसले को लागू कराने की मांग की जा सकती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारत से तुलना करते हुए आनंद महिंद्रा ने उठाए अमेरिकी चुनाव प्रक्रिया पर सवाल, बताईं ये कमियां
2 Covid-19 की होगी छुट्टी! जल्द आने वाली है स्वदेशी कोरोना वैक्सीन, जानें- क्या बोले सरकार के वैज्ञानिक
3 कभी महिला आइकॉन थीं चंदा कोचर, आज मनी लॉन्ड्रिंग केस की चार्जशीट में नाम, जानें- क्या है पूरा मामला
यह पढ़ा क्या?
X