ताज़ा खबर
 

ऑनलाइन भी खरीदे जा सकेंगे खादी के उत्पाद, एमएसएमई मंत्रालय को सौंपा प्रस्ताव

आयोग राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, गोवा व महाराष्ट्र राज्यों में 16 फ्रेंचाइजी देने की प्रक्रिया में है।

Author नई दिल्ली | Published on: October 17, 2016 2:22 PM
कपड़े सिलाने के लिए दर्जी को शरीर का नााप देता एक व्यक्ति। (चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।)

खादी व ग्रामोद्योग आयोग जल्द ही इकॉमर्स पोर्टल शुरू करेगा और उसके सही उत्पादन ऑनलाइन भी खरीदे जा सकेंगे। आयोग के चेयरमैन वीके सक्सेना ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि तेजी से बढ़ते इकामर्स क्षेत्र तथा देश में खारीद उत्पादों की बढ़ती मांग को ध्यान में रखते हुए आयोग अपना ऑनलाइन पोर्टल शुरू करना चाहता है और उसने इस बारे में प्रस्ताव सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय को सौंपा है। सक्सेना ने कहा,‘इसे अगले महीने शुरू कर दिया जाएगा। इस बारे में सारा काम पूरा कर लिया गया है।’

इसके साथ ही आयोग राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, गोवा व महाराष्ट्र राज्यों में 16 फ्रेंचाइजी देने की प्रक्रिया में है। फिलहाल वह अपने ही बिक्री केंद्रों के जरिए उत्पाद बेचता है। खादी व ग्रामोद्योग उत्पादों को बढावा देने के लिए उठाए गए विभिन्न कदमों का जिक्र करते हुए सक्सेना ने कह कि वितरण के आधुनिक चैनलों के जरिए बिक्री बढ़ाने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा,‘हमें बिक्री बढ़ानी होगी। हम इस दिशा में अनेक कदम उठा रहे हैं। इनमें जुलाहों व कारीगरों के विपणन कौशल को बढ़ाने लिए उठाए गए कदम शामिल हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 देश में 22 हाइवे को चौड़ा कर रनवे में बदलने की तैयारी
2 कभी गुब्बारे बनाती थी, आज है सुखोई के टायर बनाने वाली इकलौती भारतीय कंपनी और एक शेयर 50 हजार रुपए का, जानिए MRF की कहानी
3 जापान ने विमानों में सैमसंग ग्लैक्सी नोट 7 ले जाने पर रोक