ताज़ा खबर
 

2जी केस: गवाह ने कहा,‘कलईगनर टीवी के पीछे कनिमोई का दिमाग’

2जी मामले में अभियोजन पक्ष के एक गवाह ने विशेष अदालत के समक्ष शुक्रवार को कहा कि आरोपी कंपनी कलईगनर टीवी प्राइवेट लि. (केटीवी) के गठन के पीछे द्रमुक सांसद कनिमोई का दिमाग सक्रिय था। कनिमोई 2जी से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में सुनवाई का सामना कर रही है। इस मामले में 18 अन्य आरोपी […]

Author December 6, 2014 12:33 PM
2G Scam: प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले साल 25 अप्रैल को इन लोगों के खिलाफ धनशोधन रोकथाम कानून के तहत आने वाले कथित अपराधों वाला आरोपपत्र दायर किया था।

2जी मामले में अभियोजन पक्ष के एक गवाह ने विशेष अदालत के समक्ष शुक्रवार को कहा कि आरोपी कंपनी कलईगनर टीवी प्राइवेट लि. (केटीवी) के गठन के पीछे द्रमुक सांसद कनिमोई का दिमाग सक्रिय था। कनिमोई 2जी से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में सुनवाई का सामना कर रही है। इस मामले में 18 अन्य आरोपी हैं।

पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा के पूर्व अतिरिक्त निजी सचिव ए अचारी ने अदालत के समक्ष गवाही देते हुए कहा कि कनिमोई राजा के निवास स्थित कार्यालय में अक्सर आती रहती थी और केटीवी के समाचार बुलेटिन में कनिमोई को व्यापक रूप से कवरेज मिलता था।

उन्होंने सीबीआई के विशेष न्यायाधीश ओ पी सैनी के समक्ष कहा, ‘‘मैंने अक्सर देखा कि द्रमुक सांसद कनिमोई करुणानिधि ए राजा के नई दिल्ली में मोतीलाल नेहरू मार्ग पर स्थित निवास कार्यालय में आती रहती थी। वह उनके कार्यालय इलेक्ट्रॉनिक्स निकेतन में भी एक बार आयीं।’’

अचारी ने कहा, ‘‘दोनों नियमित रूप से बात करते रहते थे। वह (कनिमोई) शुक्रवार को अदालत में उपस्थित हैं। कनिमोई करुणानिधि का कलईगनर टीवी के गठन में दिमाग था। केटीवी के समाचार बुलेटिन में उन्हें व्यापक रूप से कवरेज मिलता था।’’

कनिमोई के वकील रेबेका जान ने जब जिरह की तो अचारी ने इस बात से इनकार किया वह अदालत में झूठी गवाही दे रहे हैं। अचारी ने कहा कि उन्होंने फरवरी में सरकारी सेवा से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली और अप्रैल में भाजपा से जुड़े। इस पर कनिमोई के वकील ने कहा, ‘‘सुब्रमणियन स्वामी तथा भाजपा ने इस मामले को राजनीतिक मुद्दा बनाया, आपने अपने राजनीतिक खेल के अनुकूल साक्ष्य दिये?’’

इस पर अचारी ने कहा, ‘‘यह कहना गलत है कि सुब्रमणियन स्वामी तथा भाजपा ने अदालत के समक्ष झूठी गवाही देने के लिये मुझे बरगलाया।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App