scorecardresearch

जियो सिनेमा OTT के Viacom18 Media के साथ होगा विलय, सीसीआई ने दी मंजूरी; फ्री की सेवाएं हो सकती है बंद

अप्रैल में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) और वायकॉम18 ने बोधि ट्री सिस्टम्स के साथ एक रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की थी, जहां बोधि ट्री सिस्‍टम के तहत वायकॉम 18 में 13,500 करोड़ निवेश की योजना है।

जियो सिनेमा OTT के Viacom18 Media के साथ होगा विलय, सीसीआई ने दी मंजूरी; फ्री की सेवाएं हो सकती है बंद
जियो सिनेमा वायकॉम18 के साथ होगा मर्ज (फाइल फोटो-रॉयटर्स)

रिलायंस की जियो का ओटीटी प्‍लेटफॉर्म जियो सिनेमा को Viacom18 मीडिया में विलय करने की मंजूरी फेयर ट्रेड रेगुलेटर कंपटीशन कमीशन ऑफ इंडिया (CCI) ने दे दी है। सोमवार को सीसीआई ने ट्वीट कर कहा कि उसने बीटीएस इन्वेस्टमेंट और रिलायंस प्रोजेक्ट्स एंड प्रॉपर्टी मैनेजमेंट सर्विसेज के निवेश के बाद वायकॉम18 मीडिया के साथ जियो सिनेमा ओटीटी प्लेटफॉर्म को मर्ज करने की अनुमति दी है।

गौरतलब है कि अभी ग्राहकों को जियो सिनेमा पर फ्री में वीडियो देखने का मौका दिया जा रहा है। ऐसे में जियो सिनेमा को Viacom18 मीडिया में मर्ज के बाद संभावना है कि जियो सिनेमा के ग्राहकों को OTT प्‍लेटफॉर्म का सब्‍सक्रिप्‍शन लेना पड़ेगा। इसके बाद ही इंटरटेनमेंट वीडियो का लाभ उठा सकेंगे। हालांकि इसे लेकर अभी कंपनी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

अप्रैल में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) और वायकॉम18 ने बोधि ट्री सिस्टम्स के साथ एक रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की थी, जहां बोधि ट्री सिस्‍टम के तहत वायकॉम 18 में 13,500 करोड़ निवेश की योजना है। वहीं आरआईएल की पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली रिलायंस प्रोजेक्ट्स एंड प्रॉपर्टी मैनेजमेंट सर्विसेज सहायक कंपनी भारत में सबसे बड़ी टीवी और डिजिटल स्ट्रीमिंग फर्मों में से एक बनाने के लिए ब्रॉडकास्टर में 1,645 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

त्रिस्‍तरी साझेदारी के तहत रिलायंस के लोकप्रिय जियो सिनेमा ओटीटी ऐप को वायाकॉम18 में ट्रांसफर किया जाएगा। बोधि ट्री सिस्टम्स (बीटीएस) जेम्स मर्डोक की लुपा सिस्टम्स की एक निवेश उद्यम फर्म हैं। वहीं रिलायंस प्रोजेक्ट्स एंड प्रॉपर्टी मैनेजमेंट सर्विसेज आईटी सपोर्ट सर्विसेज में लगी हुई है। वायकॉम18 मीडिया अपने चैनलों के पोर्टफोलियो और स्ट्रीमिंग ऐप ‘Voot’ के माध्यम से मीडिया और मनोरंजन सेवाएं प्रदान करती है।

बता दें कि एक निश्चित सीमा से अधिक के सौदों के लिए CCI से अनुमोदन की आवश्यकता होती है, जो बाजार में अनुचित व्यापार पर नजर रखती है। वायकॉम18 ने आईपीएल के मीडिया राइट्स अगले पांच साल के लिए खरीदा है। यह केवल पांच साल के लिए आईपीएल ही नहीं दिखाएगा, बल्कि कई खेलों के प्रसारण को भी दिखाएगा। 20,500 करोड़ रुपये में वायकॉम 18 ने आईपीएल के डिजिटल राइट्स खरीदें हैं।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट