ताज़ा खबर
 

भारत की सबसे अमीर महिला हैं 70 वर्षीय सावित्री जिंदल, 52,000 करोड़ से ज्यादा की है संपत्ति, राजनीति में भी बड़ा दखल

सावित्री जिंदल के चार बेटे हैं- पृथ्वीराज जिंदल, सज्जन जिंदल, रतन जिंदल और नवीन जिंदल। पृथ्वीराज Jindal SAW Ltd का कामकाज देखते हैं। वहीं सज्जन जिंदल JSW ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं।

Author Edited By यतेंद्र पूनिया नई दिल्ली | Updated: September 11, 2020 2:11 PM
savitri jindalजिंदल समूह की चेयरपर्सन सावित्री जिंदल

देश के टॉप धनकुबेरों की लिस्ट में भले ही ज्यादातर पुरुषों के ही नाम हैं, लेकिन इसमें एक नाम सावित्री जिंदल का भी है। देश की अमीर महिलाओं की सूची में वह पहले पायदान पर हैं, जबकि अमीरों की ओवरऑल रैंकिंग में 20वें नंबर पर हैं। 7.1 अरब डॉलर यानी 52,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति की मालिक सावित्री जिंदल देश की दिग्गज स्टील कंपनी जिंदल ग्रुप की चेयरपर्सन हैं। 9 बच्चों की मां 70 वर्षीय सावित्री जिंदल समूह का संचालन करती हैं। उनका जिंदल समूह स्टील, पावर, सीमेंट और इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में काम करता है। जिंदल ग्रुप की स्थापना सावित्री जिंदल के पति ओमप्रकाश जिंदल ने की थी।

जिंदल परिवार हरियाणा की राजनीति में भी काफी सक्रिय रहा है। सावित्री जिंदल के पति ओम प्रकाश जिंदल हिसार विधानसभा से कांग्रेस के टिकट पर लगातार तीन बार चुनाव जीते। 2005 में ओम प्रकाश जिंदल हरियाणा के ऊर्जा मंत्री बने परंतु कुछ समय बाद ही उनका निधन हो गया। ओमप्रकाश जिंदल के निधन के बाद सावित्री जिंदल ने हिसार से विधानसभा उपचुनाव लड़ा और हरियाणा सरकार में मंत्री बन गईं। 2009 में सावित्री जिंदल हिसार से दोबारा विधानसभा चुनाव जीतीं। सावित्री जिंदल ने भूपेंद्र हुड्डा की हरियाणा सरकार में कई अहम मंत्रालय संभाले। पर 2014 के विधानसभा चुनाव में सावित्री जिंदल भाजपा के कमल गुप्ता से चुनाव हार गईं।

सावित्री जिंदल के चार बेटे हैं- पृथ्वीराज जिंदल, सज्जन जिंदल, रतन जिंदल और नवीन जिंदल। पृथ्वीराज Jindal SAW Ltd का कामकाज देखते हैं। वहीं सज्जन जिंदल JSW ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। रतन Jindal Stainless Ltd के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं और नवीन Jindal Steel & Power Ltd के चैयरमेन हैं। सावित्री जिंदल के सबसे छोटे बेटे नवीन जिंदल हरियाणा की कुरुक्षेत्र लोकसभा से 2004 और 2009 में लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे। 2014 लोकसभा चुनाव में नवीन जिंदल कुरूक्षेत्र सीट पर भाजपा के राजकुमार सैनी से चुनाव हार गए थे।

हेलिकॉप्टर क्रैश में हुआ था ओपी जिंदल का निधन: जिंदल समूह के संस्थापक ओमप्रकाश जिंदल का 2005 में एक हवाई दुर्घटना में निधन हो गया था। उस समय वह हरियाणा के ऊर्जा मंत्री भी थे। इसी घटना में सूबे के पूर्व सीएम बंसीलाल के बेटे सुरेंद्र सिंह का भी निधन भी हो गया था। दरअसल चंडीगढ़ में एक राजनीतिक मीटिंग से जिंदल और सुरेंद्र सिंह निजी हेलिकॉप्टर से लौट रहे थे। इसी दौरान तकनीकी खामी के चलते सहारनपुर जिले में विमान तकनीकी खामी के चलते क्रैश हो गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शिरडी साईं मंदिर की कमाई में कोरोना काल में बड़ी गिरावट, फिर भी दान में मिले 115 करोड़ रुपये
2 आर्थिक स्वतंत्रता रैंकिंग में 26 पायदान नीचे गिरा भारत, कई छोटे देश हैं कहीं आगे, जानें- क्या रहे गिरावट के कारण
3 7th Pay Commission: घर बनाने के लिए केंद्रीय कर्मचारियों को सरकार से मिलता है सस्ता लोन, जानें- क्या है तरीका
IPL 2020 LIVE
X