ताज़ा खबर
 

Jet Airways हुई दिवालिया, संस्थापक नरेश गोयल के बेटे ने खोली नई कंपनी

कंपनी खोलने के लिए जो दस्तावेज दिए गए उनमें यह नाम सामने आया है। कंपनी का रिजस्ट्रेशन महाराष्ट्र में 10 लाख रुपए की प्रारंभिक शेयर पूंजी के साथ जून महीने में किया गया है।

जेट एयरवेज संस्थापक नरेश गोयल और उनके बेटे निवान गोयल। फोटो: इंडियन एक्सप्रेस/जनसत्ता

दिवालिया घोषित की जा चुकी एयरलाइन्स कंपनी जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के बेटे निवान गोयल ने एक नई कंपनी खोली है। निवान ने एक ट्रैवल टेक्नॉलजी कंपनी की शुरुआत की है। निवान के चचेरे भाई और जेट के पूर्व एग्जिग्यूटिव निखिल राघवन भी इसमें उनका साथ दे रहे हैं। जेट एयरवेज के संस्थापक के बेटे ने अपनी कंपनी का नाम Digital Blinc Technologies रखा है। कंपनी खोलने के लिए जो दस्तावेज दिए गए उनमें यह नाम सामने आया है। कंपनी का रिजस्ट्रेशन महाराष्ट्र में 10 लाख रुपए की प्रारंभिक शेयर पूंजी के साथ जून महीने में किया गया है।

दस्तावेजों के मुताबिक गोयल और राघवन इस कंपनी के डायरेक्टर हैं। हालांकि राघवन ने अगस्त महीने में फेसबुक पोस्ट के जरिए इस कंपनी को खोलने की जानकारी दी थी। उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा था ‘मुझे बेहद खुशी हो रही है कि मैं ‘Blinc Technologies’ नामक एक टेक स्टार्टअप का सह-संस्थापक हूं। यह बिजनेस टू कस्टमर (बी 2 सी) से जुड़ा है।’ वहीं कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक ग्राहकों को ऑनलाइन टिकटिंग सॉल्यूशन, कैब राइड शेयरिंग एप्लीकेशन और डिजिटल पेमेंट जैसे सेवाएं दी जाएंगी।

मालूम हो कि भारत की पुरानी एयरलाइन सर्विस देनी वाली जेट एयरवेज ने अपनी सभी फ्लाइट्स का संचालन इस साल 17 अप्रैल से बंद कर दिया था। लोन न चुकाने के चलते कंपनी दिवालिया प्रक्रिया से गुजर रही है। नरेश गोयल ने 26 साल पहले जेट एयरवेज की स्थापना की थी। 2007 में जेट एयरवेज में 13,000 कर्मचारी थे लेकिन अगले साल 2008 में 2000 लोगों की छंटनी कर दी गई थी।

2012 के बाद कंपनी पिछड़ने लगी थी। पहले इसे इंडिगो ने पछाड़ा फिर इसके बाद कंपनी ने यूएई की एतिहाद में भी हिस्सेदारी खरीद ली। अंत में 26 साल पुरानी जेट एयरवेज के पास कर्मचारियों के वेतन, विमानों और तेल कंपनियों के किराए, हवाई अड्डे तक के भुगतान आदि तक के लिए पैसे नहीं रहे।

Next Stories
1 YES बैंक में हिस्सेदारी खरीद सकता है Paytm, हो रही है बातचीत
2 ‘बैंकों के जोखिम प्रबंधन की चुनौती बढ़ेगी’, RBI के कर्ज को रेपो रेट से जोड़ने के आदेश पर मूडीज की राय
3 नई नौकरियों की ज्यादा संभावनाएं नहीं! सर्वे में दावा- अगली तिमाही हायरिंग के मूड में सिर्फ 19 प्रतिशत नियोक्ता
ये पढ़ा क्या?
X