ताज़ा खबर
 

निष्क्रिय पड़े हैं जन धन योजना के हजारों खाते, बैंक शाखाओं से बैरंग लौट रहे लोग, जानें- कैसे ऐक्टिव होगा खाता

Jan Dhan Yojana: इनमें से ऐसे भी बहुत से लोग पाए गए हैं, जो राशि आने के बाद भी निकाल नहीं पाए और निराश होकर लौटना पड़ा। दरअसल इसकी वजह यह थी कि उनका बैंक का खाता निष्क्रिय पड़ा था।

jan dhan yojana

केंद्र सरकार की ओर से देश की 20.3 करोड़ महिलाओं के खातों में जन धन योजना के तहत 500 रुपये की राशि ट्रांसफर होने लगी है। इसके साथ ही बैंक शाखाओं में बड़ी संख्या में भीड़ उमड़ती देखी जा रही है। हालांकि इनमें से ऐसे भी बहुत से लोग पाए गए हैं, जो राशि आने के बाद भी निकाल नहीं पाए और निराश होकर लौटना पड़ा। दरअसल इसकी वजह यह थी कि उनका बैंक का खाता निष्क्रिय पड़ा था। आइए जानते हैं, ऐसी स्थिति में कैसे बैंक करा सकते हैं अकाउंट और कैसे निकाल सकते हैं रकम…

मैनेजर को लिखनी होगी ऐप्लिकेशन: दरअसल केंद्र की मोदी सरकार ने 2014 में पहली बार सत्ता में आने के बाद ही जन धन योजना लॉन्च की थी। उसके बाद से अब तक ऐसे तमाम खाते हैं, जिनमें खुलने के बाद ट्रांजेक्शंस नहीं हुईं। बैंकों के नियमों के मुताबिक यदि किसे खाते से लगातार दो साल तक कोई ट्रांजेक्शंस नहीं होती हैं तो वह निष्क्रिय हो जाता है। एक बार निष्क्रिय हो जाने के बाद खाते से कोई ट्रांजेक्शन नहीं की जा सकती। इसके लिए यह जरूरी होगा कि खाताधारक की ओर से ब्रांच मैनेजर को ऐप्लिकेशन लिखी जाए और खाते को चालू करने की मंजूरी मांगी जाए। इसमें आपको यह भी बताना होगा कि आखिर खाते से ट्रांजेक्शन क्यों नहीं हुआ।

फिर से अपडेट करानी होगी KYC: खाते को दोबारा से चालू कराने के लिए एक बार फिर से केवाईसी अपडेट करानी होगी। आपको अपना फोटो, पैन कार्ड, एड्रेस प्रूफ और पहचान का प्रमाण बैंक को देना होगा।

ट्रांजेक्शन भी जरूरी: केवाईसी अपडेट कराने के बाद कस्टमर को खाते से कुछ ट्रांजेक्शन भी करनी होगी, जैसे कुछ राशि जमा करना। बिना ट्रांजेक्शन के निष्क्रिय पड़ा खाता ऐक्टिव नहीं होगा।

कोई चार्ज नहीं लगेगा: भारतीय रिजर्व बैंक के निर्देशों के मुताबिक किसी निष्क्रिय खाते को चालू करने के लिए बैंक कोई चार्ज नहीं वसूल सकते।

ऐसे खाते नहीं होते निष्क्रिय: यदि आपने कोई एफडी की है और उसका ब्याज सेविंग अकाउंट में नियमित आता है तो फिर खाता निष्क्रिय नहीं माना जाएगा। यह जरूरी है कि किसी भी खाते में साल में एक बार कम से कम ट्रांजेक्शन की जाए। यदि ऐसा नहीं होता है तो खाते को दोबारा चालू कराने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ती है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: जानें-कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर । जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल ।  कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केंद्रीय कर्मचारियों को लॉकडाउन के बीच बड़ी राहत, CGHS कार्ड की वैलिडिटी 30 अप्रैल तक बढ़ी
2 लोन की किस्तों में तीन महीने के लिए चाहते हैं छूट तो ऐसा बिलकुल न करें, पड़ सकता है भारी, बैंकों ने ग्राहकों को चेताया
3 लॉकडाउन खोलने के इस तरीके पर चल रहा सबसे ज्यादा विचार, जानें- इंडस्ट्री चालू करने को लेकर है क्या प्लान
ये पढ़ा क्या?
X