ताज़ा खबर
 

जन धन योजना के तहत प्राइवेट बैंक में भी खुलवा सकते हैं खाता, मिलने लगेगा सरकारी योजनाओं का आसानी से लाभ

Jan Dhan Yojana account benefits: वित्तीय समावेशन के मकसद से शुरू की गई जन धन योजना के तहत आप भी अपना खाता खुलवा सकते हैं। यही नहीं यदि आपके पास कोई सरकारी बैंक मौजूद नहीं है तो निजी बैंक में भी खाता खुलवा सकते हैं।

jan dhan yojanaजन धन योजना के तहत आप निजी बैंक में भी खुलवा सकते हैं खाता

केंद्र सरकार की ओर से ज्यादातर कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनता तक पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री जन धन योजना के खातों का ही इस्तेमाल किया जाता है। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए लागू हुए लॉकडाउन के दौरान भी मोदी सरकार ने उज्ज्वला स्कीम और जन धन योजना की महिला लाभार्थियों को इन्हीं खातों के जरिए मदद की है। अप्रैल से लेकर जून तक तीन महीने 20 करोड़ महिलाओं के खाते में 500 रुपये आने हैं। वित्तीय समावेशन के मकसद से शुरू की गई इस स्कीम के तहत आप भी अपना खाता खुलवा सकते हैं। यही नहीं यदि आपके पास कोई सरकारी बैंक मौजूद नहीं है तो निजी बैंक में भी खाता खुलवा सकते हैं।

इन निजी बैंकों में भी खुल सकता है आपका बैंक अकाउंट
– HDFC बैंक
– ICICI बैंक
– Axis बैंक
– फेडरल बैंक
– इंड्सइंड बैंक
– आईएनजी वैश्य बैंक
– कर्णाटक बैंक
– कोटक महिंद्रा बैंक
– येस बैंक
– धनलक्ष्मी बैंक

बचत खाता भी स्कीम के तहत हो सकता है ट्रांसफर: जन धन योजना का खाता खुलवाने के लिए यह जरूरी है कि आपके पास भारत की नागरिकता हो और आयु 10 वर्ष से अधिक हो। इसके अलावा यह भी जरूरी है कि कहीं और आपका कोई अन्य खाता न हो। हालांकि यह सुविधा भी दी जाती है कि आप अपने बेसिक सेविंग्स अकाउंट को जन धन योजना के अकाउंट में ट्रांसफर करा सकते हैं। इसके लिए आपको बैंक मैनेजर के समक्ष एक आवेदन करना होगा कि आपके खाते को जन धन योजना के तहत ट्रांसफर किया जाएगा।

ये दस्तावेज हैं जरूरी: जन धन योजना के तहत खाता खुलवाने के लिए आपको अपने आवेदन के साथ केवाईसी पूरी करने के लिए कुछ दस्तावेज सौंपने होंगे। आप पासपोर्ट, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड आदि के जरिए जन धन योजना के तहत बैंक खाता खुलवा सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लॉकडाउन के चलते भीषण गरीबी के दलदल में फंस जाएंगे 1.2 करोड़ लोग, आजीविका छिनने से संकट
2 पतंजलि आयुर्वेद ने तीन मिनट में ही जुटा लिए 250 करोड़ रुपये, तीन साल के लिए कंपनी ने इश्यू किए डिबेंचर