scorecardresearch

बाजार में उतार-चढ़ाव के बीच ITC के शेयर ने लगाई लंबी छलांग, 3 साल के उच्‍च स्‍तर पर पहुंचा स्‍टॉक

आईटीसी लिमिटेड के शेयरों ने सोमवार के शुरुआती सत्र में स्टॉक के 3 साल के उच्च स्तर तक बढ़ने के साथ बढ़ोतरी जारी रखी। इसके शेयर बीएसई पर 2.51% की बढ़ोतरी के साथ 291.50 रुपए तक पहुंच गए, जो 2019 के बाद से सबसे अधिक कीमत है।

बाजार में उतार-चढ़ाव के बीच ITC के शेयर ने लगाई लंबी छलांग, 3 साल के उच्‍च स्‍तर पर पहुंचा स्‍टॉक
ITC के शेयरों ने लगाई तीन साल में सबसे अधिक छलांग (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

शेयर बाजार में कभी तेजी से उछाल देखने को मिल रही है तो वहीं तेजी से गिरावट भी हो रही है। इस कारण से कई कंपनियों के स्‍टॉक में उछाल के साथ ही भारी गिरावट देखने को मिला है। लेकिन इसके उलट ITC के शेयर ने तेजी से छलांग लगाई है, इसके शेयर की कीमत तीन साल के उच्‍चे स्‍तर पर पहुंच चुका है। जिसका मतलब है कि निवेशकों को खूब रिटर्न मिल सकता है।

आईटीसी लिमिटेड के शेयरों ने सोमवार के शुरुआती सत्र में स्टॉक के 3 साल के उच्च स्तर तक बढ़ने के साथ बढ़ोतरी जारी रखी। इसके शेयर बीएसई पर 2.51% की बढ़ोतरी के साथ 291.50 रुपए तक पहुंच गए, जो 2019 के बाद से सबसे अधिक कीमत है। पिछले कुछ सालों में सुस्‍त प्रदर्शन के बाद इसके शेयरों ने 2022 (YTD) में बेहतर प्रदर्शन किया है। इस अवधि के दौरान जहां सेंसेक्स में लगभग 11% की गिरावट हुई है, वहीं इसने 32 प्रतिशत से अधिक की छलांग लगाई है।

किस व्‍यवसाय में कितनी बढ़ोतरी?
ITC एफएमसीजी, होटल, पैकेजिंग, पेपरबोर्ड, स्पेशियलिटी पेपर और कृषि व्यवसाय जैसे उद्योगों में शामिल है। एफएमसीजी ने जनवरी-मार्च की अवधि के लिए शुद्ध लाभ में 12% की बढ़ोतरी के साथ 4,195 करोड़ रुपए दर्ज किए, जबकि एक साल पहले यह 3,755 करोड़ रुपए था। संचालन से कोलकाता स्थित कंपनी का राजस्व 15% बढ़कर 17,754 करोड़ हो गया, जबकि पिछले वर्ष की अवधि में यह 15,404 करोड़ रुपए था।

होटल बिजनेस में 35.3% अधिक लाभ
तिमाही के दौरान इसका एफएमसीजी राजस्व 12.3% बढ़कर 4,141.9 करोड़ रुपए हो गया, जबकि सिगरेट राजस्व 10 फीसद बढ़कर 6,443 रुपए हो गया है। वहीं होटल व्यवसाय ने तिमाही के दौरान 389.6 करोड़ रुपए की कमाई की है, जो एक साल पहले की तुलना में 35.3% अधिक है।

डिमांड में उम्‍मीद से बेहतर सुधार
जून के मध्य में जारी एक रिपोर्ट में मोतीलाल ओसवाल ने कहा था कि कोविड की दूसरी लहर के बाद डिमांड महामारी से पहले के स्तरों पर पहुंचने के साथ उसने ITC के शेयरों को अपग्रेड करते हुए खरीद की सलाह दी है। उन्‍होंने एक रिपोर्ट में कहा था कि डिमांड में उम्मीद से बेहतर सुधार और सिगरेट में अच्छे मार्जिन होने की संभावना है।

उछाल जारी रहने की उम्‍मीद
इसके साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि आउटलुक, एफएमसीजी बिजनेस में अच्छी सेल्स और हाल के वर्षों में बेहतर कैपिटल अलोकेशन से उसकी आईटीसी के शेयर पॉजिटिव रहेंगे। वहीं विश्लेषकों को यह प्रवृत्ति जारी रहने की उम्मीद है और इसके परिणामस्वरूप मध्यम अवधि में सिगरेट की मात्रा और आय दृश्यता में सुधार होना चाहिए।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.