ताज़ा खबर
 

ट्रैफिक नियम तोड़ना पड़ेगा भारी, बीमा पर यातायात उल्लंघन प्रीमियम लागू करने की हो रही तैयारी

यह प्रीमियम मोटर के खुद के नुकसान, मूल तीसरे पक्ष के बीमा, अतिरिक्त तीसरे पक्ष का बीमा और अनिवार्य व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा प्रीमियम के अलावा रखे जाने का सुझाव दिया गया है।

irdai, insurance , trafficयातायात उल्लंघन प्रीमियम’ की शुरुआत करने की सिफारिश की (Photo-indian express )

बीमा नियामक भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडई) के एक कार्य समूह ने ‘यातायात उल्लंघन प्रीमियम’ की शुरुआत करने की सिफारिश की है। यह प्रीमियम स्वयं और तीसरे पक्ष के नुकसान के बीमा के साथ होगा।

क्या है ये प्रीमियमः नियामक द्वारा गठित समूह ने मोटर बीमा में इसके लिए एक पांचवीं धारा जोड़ने का सुझाव भी दिया है। इसके तहत ‘‘यातायात उल्लंघन प्रीमियम’’ को जोड़ने का सुझाव दिया गया है। यह प्रीमियम मोटर के खुद के नुकसान, मूल तीसरे पक्ष के बीमा, अतिरिक्त तीसरे पक्ष का बीमा और अनिवार्य व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा प्रीमियम के अलावा रखे जाने का सुझाव दिया गया है।

इरडई द्वारा जारी मसौदे में इन सिफारिशों पर संबंधित पक्षों से एक फरवरी 2021 तक जरुरी सुझाव मांगे गये हैं। प्रस्ताव के अनुसार यह प्रीमियम वाहन के भविष्य से संबंधित होगा। किसी नए वाहन के संबंध में यह शून्य होगा। इस प्रीमियम का निर्धारण शराब पीकर गाड़ी चलाने से लेकर गलत जगह पार्किंग करने जैसे अलग- अलग उल्लंघनों से तय होगा। यातायात नियमों के उल्लंघन पर हुए चालान का आकड़ा बीमा कंपनियों को एनआईसी (नेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर) से प्राप्त होगा।

ट्रैफिक उल्लंघन प्रीमियम वाहन के पंजीकृत मालिक द्वारा देय होगा, चाहे वह व्यक्ति हो या इकाई। मोटर इंश्‍योरेंस खरीदार जब किसी तरह का मोटर इंश्‍योरेंस लेने के लिए जनरल इंश्‍योरेंस कंपनी के पास पहुंचेगा तो ट्रैफिक उल्‍लंघन पॉइंट का आकलन किया जाएगा। इसी के अनुसार प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

Next Stories
1 सम-सामयिक, एनपीए : क्यों बढ़ रहे बैंकों की रकम डूबने के मामले
2 दौलत में अपने क्लासमेट को पछाड़ने के करीब मुकेश अंबानी, दोनों अरबपतियों ने यहां से की थी पढ़ाई
3 7th Pay Commission: इस राज्य की सरकार ने कर्मचारियों को दिया तोहफा, बढ़ कर आएगी जनवरी की सैलरी
यह पढ़ा क्या?
X