ताज़ा खबर
 

IRCTC: अब ट्रेनों में ले सकेंगे 3डी का मजा, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुरू कर दी तैयारी

IRCTC: अधिकारियों का कहना है कि रेल मंत्री का यह आइडिया काम करता है तो यह रेलवे के लिए किराए के बिना मिलने वाले राजस्व का स्रोत भी हो सकता है।

रेलमंत्री पीयूष गोयल। (इंडियन एक्सप्रेस फोटो)

IRCTC: क्या रेलवे यात्री स्टेशनों और ट्रेनों को 3डी तकनीक के जरिए एक अलग ही रूप में देख पाएंगे? अगर आपका जवाब ना है तो आप बिल्कुल गलत है, क्योंकि केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल जल्द ही भारतीय रेल यात्रियों यह सौगात देने जा रहे हैं। इंडियन एक्सप्रेस के दिल्ली कॉन्फिडेंशियल में छपी एक खबर के मुताबिक जानकारी मिली है कि पीयूष गोयल ने टेलीकॉम कंपनी पीएसयू से इस विचार को अमल में लाने की तकनीक के बारे में रिसर्च करने को कहा है। जिसमें वेटिंग रूम में डिजिटल सामग्री और शायद चुनिंदा ट्रेनों में भी 3डी चश्मा या शायद वर्चुअल रियलिटी ग्लास लगाए जाएं। अधिकारियों का कहना है कि रेल मंत्री का यह आइडिया काम करता है तो यह रेलवे के लिए किराए के बिना मिलने वाले राजस्व का स्रोत भी हो सकता है।

बता दें कि भारतीय रेलवे इन दिनों रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों की हालात सुधारने की दिशा में लगातार काम कर रहा है। ट्रेनों और रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को जरुरी सुविधा मुहैया कराने पर रेल मंत्रालय तेजी से काम कर रहा है। हाल के दिनों में पीयूष गोयल ने घोषणा की थी कि जनरल इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन तीन रेल परियोजनाओं के हिस्से के रूप में रेलवे स्टेशनों पर 5,000 से अधिक स्टेनलेस स्टील बेंच के लिए धन मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक ये स्टेनलेस स्टील बेंच सेंट्रल और वेस्टर्न रेलवे जोन के 250 रेलवे स्टेशनों पर लगाई जाएंगी। रेल मंत्री पीयूष गोयल के हवाले से रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि कोल इंडिया लिमिटेड और उसकी सहायक कंपनियों जैसे सीएसआर के समर्थन से रेलवे स्टेशनों पर 2,400 से अधिक शौचालय बनाए जाएंगे, जो महिलाओं, पुरुषों और दिव्यांगजनों के लिए अलग-अलग इकाइयों के साथ निर्मित होंगे। इसके अलावा, उन्होंने यह भी कहा कि रेलवे स्टेशनों पर शौचालयों के अलावा कम लागत वाले सैनिटरी पैड डिस्पेंसर, कंडोम वेंडिंग मशीन भी लगाई जाएंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App