ताज़ा खबर
 

IRCTC Indian Railways: 1 घंटे से ज्यादा लेट हुई ट्रेन तो मिलेगा रिफंड! यहां लागू हो सकती है यह व्यवस्था

IRCTC को दो तेजस ट्रेनें चलाने का कॉन्ट्रैक्ट मिला है। इस वजह से अक्टूबर से दिल्ली से लखनऊ के रूट पर चलने वाली इस ट्रेन से जुड़ी योजनाओं को आखिरी रूप दिया जा रहा है।

Author नई दिल्ली | Updated: August 26, 2019 12:55 PM
IRCTC Railways : तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

INDIAN RAILWAYS में सफर करने वाले यात्री यह जानते हैं कि यहां ट्रेनों का लेट होना एक आम बात है। हालांकि, अगर ट्रेन लेटर होने पर यात्रियों को मुआवजा मिलने की बात सामने आए तो एक बार विश्वास नहीं होगा। हालांकि, ऐसा सच होता नजर आ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत की पहली ‘प्राइवेट’ ट्रेन से यात्रा करने वाले लोगों को यह सुविधा मिल सकती है। इस बात पर विचार किया जा रहा है कि अगर ट्रेन एक घंटे से ज्यादा लेट होती है तो यात्री रिफंड के हकदार होंगे।

IRCTC के एक सीनियर अधिकारी ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन से बातचीत में बताया, ” हम दिल्ली-लखनऊ रूट पर तेजस एक्सप्रेस चलाने की योजनाओं को आखिरी रूप दे रहे हैं। ट्रेन के गंतव्य तक पहुंचने में देरी होने की दशा में यात्रियों को कुछ रिफंड देने के प्रावधान पर भी विचार किया जा रहा है। यह रिफंड ई वॉलेट में कैशबैक या भविष्य की यात्राओं पर छूट के तौर पर दिया जा सकता है।”

IRCTC को दो तेजस ट्रेनें चलाने का कॉन्ट्रैक्ट मिला है। इस वजह से अक्टूबर से दिल्ली से लखनऊ के रूट पर चलने वाली इस ट्रेन से जुड़ी योजनाओं को आखिरी रूप दिया जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, यह कोशिश की जा रही है कि यात्रियों को ट्रेन में कई तरह की सुविधाएं मिले। इनमें यात्रियों को दूसरी बार भोजन देने, चाय या कॉफी के लिए वेंडिंग मशीनें लगाने की योजना भी है।

मकसद एयरलाइंस के यात्रियों को ट्रेन यात्रा के लिए लुभाना है। एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, IRCTC के एक अधिकारी ने बताया, ‘रेलवे की ओर से ब्रेकफास्ट मुहैया कराया जाता है। यात्री जब लखनऊ पहुंचते हैं तो लंच का वक्त हो जाता है। इसलिए हम चाहते हैं कि उन्हें कुछ स्नैक्स पेश किए जाएं ताकि वे लंच के पहले मीटिंग जैसे दूसरे कामों को निपटा सकें।’

रेल यात्रा में 40 फीसदी डिस्काउंट पाने वाले सीनियर सिटिजनों को भी लुभाने की तैयारी है। बता दें कि इस मॉडल को मुंबई से अहमदाबाद रूट पर प्रस्तावित दूसरे प्राइवेट ट्रेन के लिए भी लागू करने की योजना है। इस ट्रेन के नवंबर में शुरू होने की योजना है। तेजस के यात्रियों को 50 लाख का ट्रैवल इंश्योरेंस और चोरी का कवरेज देने के बारे में भी विचार किया जा सकता है।

इस ट्रेन में एक कोच में चार के बजाए दो टॉयलेट ही लगाने की योजना है। बचे हुए स्पेस का इस्तेमाल सर्विस और खाने पीने की चीजों के मैनेजमेंट में किया जाएगा। इस ट्रेन का किराया शताब्दी जैसे ही रखने की योजना है। हालांकि, डायनमिक प्राइसिंग लागू करने की भी योजना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 RBI अधिकारियों के शब्दज्ञान से बड़े-बड़े एक्सपर्ट हैरान, बातें समझने के लिये पड़ रही ‘वॉल्तेयर’ को पढ़ने की जरूरत
2 Reliance Industries, HDFC समेत टॉप 7 कंपनियों को झटका, मार्केट कैपिटल में 86,880 करोड़ रुपये का नुकसान
3 EPFO: 6.3 लाख पेंशनरों को मिली बड़ी राहत, EPS के तहत मिलेगी यह सहूलियत