ताज़ा खबर
 

IRCTC, Indian Railway: बदलेगा एसी कोच का हाल, एक बोगी पर 10 लाख रुपये खर्च करेगी मोदी सरकार

IRCTC, Indian Railway: एक रेलवे अधिकारी ने जानकारी दी कि हर कोच के अपग्रेडेशन के लिए रेलवे द्वारा 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट को अभी तक तो फिलहाल कोई नाम नहीं दिया गया है, लेकिन रिपोर्ट्स है कि इसे भारतीय रेलवे बोर्ड की तरफ से मंजूरी मिल गई है।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

IRCTC, Indian Railway AC Coach: एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों की अक्सर यह शिकायत होती है कि महंगा किराया देने के बावजूद उन्हें मन मुताबिक सुविधाएं नहीं मिलती हैं और उनकी कोच की स्थिति में सही नहीं होती है। एसी कोच के रखरखाव और उसकी हालत को लेकर बहुत से यात्रियों द्वारा सोशल मीडिया के जरिए कई बार शिकायत भी की जा चुकी है। अब ऐसी खबर आ रही है कि भारतीय रेलवे एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों की समस्याओं का समाधान करने जा रहा है। दरअसल, फाइनेंशियल एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रेलवे ने अपने सभी एसी कोच को अपग्रेड करने का फैसला किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रत्येक एसी कोच सेवा में आने वाली तारीख के हिसाब से हर छह साल बाद भारतीय रेलवे द्वारा अपग्रेड किया जाएगा।

एक रेलवे अधिकारी ने जानकारी दी कि हर कोच के अपग्रेडेशन के लिए रेलवे द्वारा 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट को अभी तक तो फिलहाल कोई नाम नहीं दिया गया है, लेकिन रिपोर्ट्स है कि इसे भारतीय रेलवे बोर्ड की तरफ से मंजूरी मिल गई है। इस प्रोजेक्ट के तहत हर तरह के एसी कोच फिर चाहे वह एसी 3 टियर हो या फिर एसी 2-टियर या एसी-1 को अपडेट किया जाएगा। इस कदम का मुख्य उद्देश्य एसी कोच के जीवन को बढ़ाना है और यात्रियों को भी आरामदायक सफर मुहैया कराना है।

एक अधिकारी ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस को बताया, ‘इंडियन रेलवे नेटवर्क के सभी एसी कोच को अपग्रेड करने के प्रोजेक्ट को रेलवे बोर्ड ने मंजूरी दे दी है और हर कोच के लिए इस प्रोजेक्ट के तहत 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट के तहत एसी कोच की सीट से लेकर शौचालय और अन्य तरह की हर व्यवस्था को अपग्रेड किया जाएगा।’ जहां एक तरफ सभी ट्रेनों के एसी कोच को अपग्रेड करने के लिए प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई है तो वहीं दूसरी तरफ इस वक्त भारतीय रेलवे प्रोजेक्ट उत्कृष्ठ के तहत मेल/एक्सप्रेस ट्रोनों को अपग्रेड कर रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App