ताज़ा खबर
 

IRCTC: ऑनलाइन टिकट बुकिंग व्‍यवस्‍था में हुआ बड़ा बदलाव, कई यूजर्स ने की थी मांग

IRCTC Train Ticket Booking Online: ट्रेन टिकट वेटिंग में होने पर भी कन्फर्म टिकट मिल सकती है। रेलवे की इस स्कीम का नाम है विकल्प योजना है। वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को इस योजना के अंतर्गत वैकल्पिक ट्रेन में कंफर्म बर्थ मुहैया कराई जाएगी।

अंग्रेजी वेबसाइट में हिंदी टेक्सट को शामिल करने से तमिलनाडु और देश के अन्य हिस्सों के रेल यात्रियों को परेशानी हो रही थी।

IRCTC Train Ticket Booking Online: देशभर में यात्रियों के कड़े विरोध के बाद रेलवे ने IRCTC ऑनलाइन टिकट बुकिंग वेबसाइट के इंग्लिश वर्जन से हिंदी भाषा को हटा दिया है। रेलवे टिकट बुकिंग पोर्टल को मैनेज करने वाली रेलवे की आईटी विंग, सेंटर ऑफ रेलवे इंफोर्मेंशन सिस्टम (CRIS) ने बताया कि स्टेशन के नाम समेत दिए गए जनरल दिशानिर्देशों को irctc.co.in से हटा लिया गया है। वेबसाइट के होम पेज पर ‘बुक टिकट’ के तहत ड्रॉप-डाउन मेन्यू में दिखाई देने वाले स्टेशन के नाम अब केवल अंग्रेजी में दिखाई देंगे। स्टेशन के नाम हिंदी में नहीं दिखाई देंगे। हालांकि टिकट बुकिंग के बाद आने वाले पापअप विज्ञापन हिंदी में आएंगे। आईआरसीटीसी से टिकट बुकिंग के लिए हिंदी में भी एक वेबसाइट है, अंग्रेजी वेबसाइट में हिंदी टेक्सट को शामिल करने से तमिलनाडु और देश के अन्य हिस्सों के रेल यात्रियों को परेशानी हो रही थी।

इस साल जुलाई में गैर हिंदी भाषी लोगों ने इसकी मांग की थी। कन्याकुमारी डिस्ट्रिक्ट रेलवे यूजर्स एसोसिएशन (KKDRUA) ने रेलवे बोर्ड और आईआरसीटीसी से अनुरोध किया कि वेबसाइट में हिंदी नामों को हटा लिया जाए। आधिकारिक भाषा के नियमों का जिक्र करते हुए, 1976 (संशोधित, 1987), केकेडीआरयूए सचिव एडवर्ड जेनी ने अपनी शिकायत में दावा किया कि तमिलनाडु जिसे रीजन ‘सी’ के तहत वर्गीकृत किया गया था, इसे हिंदी के उपयोग से छूट दी गई थी। आधिकारिक भाषा एक्ट 1976 तमिलनाडु में लागू नहीं होता है। साथ ही राज्य के लोग न तो हिंदी बोलते हैं न ही हिंदी लिखते हैं। हाल ही में रेलवे ने अनारक्षित टिकटों में तमिल और मलयालम भाषाओं के उपयोग को बहाल कर दिया था।

आपको बता दें कि ट्रेन टिकट वेटिंग में होने पर भी कन्फर्म टिकट मिल सकती है। रेलवे की इस स्कीम का नाम है विकल्प योजना है। वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को इस योजना के अंतर्गत वैकल्पिक ट्रेन में कंफर्म बर्थ मुहैया कराई जाएगी। हालांकि, रेल यात्रियों द्वारा इस विकल्प का चयन करने का यह बिल्कुल मतलब नहीं है कि उन्हें दूसरी ट्रेन में सीट मिल ही जाएगी। यह बात ट्रेन सीटों के अवेलेबल होने पर निर्भर करती है। दूसरी ट्रेन (अल्टरनेटिव ट्रेन) में सीट कंफर्म होने पर, कैंसलेशन चार्ज दूसरी ट्रेन में आपकी सीट/बर्थ के स्तर के अनुसार होगा। योजना में बोर्डिंग और अंतिम स्टेशन आस-पास के क्लस्टर स्टेशनों में बदल सकता है। जिस ट्रेन में बुकिंग की गई है, उसके तय प्रस्थान समय से 72 घंटे में उपलब्ध वैकल्पिक ट्रेन में ही यात्री भेजे जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App