ताज़ा खबर
 

इन दो स्‍टेशनों के बीच चलेगी दूसरी तेजस ट्रेन, अत्‍याधुनिक सुविधाओं से होगी लैस

23 कोच की होगी नई तेजस ट्रेन। ट्रेन-18 के बाद से आईसीएफ से बाहर जाने वाली यह दूसरी प्रीमियर ट्रेन है, जिसे देश की पहली लोकोमोटिव-लैस ट्रेन के रूप में जाना जाएगा।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)

देश में दूसरी तेजस एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जाएगी। यह ट्रेन चेन्नई और मदुरै के बीच चलाई जाएगी। इंटीग्रल कोच फैक्ट्री के अधिकारी ने कोच के लॉन्च पर यह कहा “आधुनिक मनोरंजन सिस्टम, मॉड्यूलर टॉयलेट, स्मार्ट विंडोज, जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली से लैस पूरी तरह से वातानुकूलित ट्रेन के कोच का निर्माण इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में किया गया था। यह पहली बार है कि हमने तमिलनाडु के लिए अल्ट्रा-आधुनिक ट्रेन का निर्माण किया है,”। पहली तेजस ट्रेन पिछले साल से मुंबई और गोवा के बीच चलाई जा रही है। अधिकारी ने कहा कि दूसरी ट्रेन को शुरू में उत्तरी रेलवे के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन अब दक्षिणी रेलवे को आवंटित किया गया था।

इसे चेन्नई-मदुरै व्यस्त मार्ग पर चलाया जाएगा। नई सर्विस के लॉन्च होने की तारीख और संचालन की तारीख बाद में दक्षिणी रेलवे द्वारा घोषणा की जाएगी। इसमें 23 चेयर कार और एग्जीक्यूटिव कोच होंगे, जो एलईडी लाइट और फाइबर प्लास्टिक (एफआरपी) इंटीरियर पैनल, शानदार सीटें, मॉड्यूलर टॉयलेट, मोटर संचालित वैनेटियन स्मार्ट खिड़कियां, पैसेंजर एरिया में स्वचालित दरवाजे हैं। अधिकारी ने कहा कि सामान्य चेयर कार में 78 सीटें हैं जबकि एग्जीक्यूटिव में 56 सीटें हैं। पिछले महीने ट्रेन-18 के बाद से आईसीएफ से बाहर जाने वाली यह दूसरी प्रीमियर ट्रेन है, जिसे देश की पहली लोकोमोटिव-लैस ट्रेन के रूप में जाना जाएगा।

ये है खासियत: ट्रेन 18 की तरह स्लाइडिंग गेट, सेंटर टेबल पर हर यात्री के लिए एलईडी स्क्रीन, विमान की तरह हर बोगी की हर सीट के पीछे एलईडी स्क्रीन, एलईडी लाइटिंग, स्मार्ट विंडो, एक्जक्यूटिव क्लास में आरामदायक सफर, हर बोगी में सीसीटीवी, जीपीएस आधारित पैसेंजर इन्फॉरमेशन सिस्टम, एक्जक्यूटिव क्लास में शानदार इंटीरियर और अधिक आरामदायक सीट। हालांकि, नई ट्रेन बाहर से दिखने में पहले जैसी (पीले और नारंगी रंग की बोगियां) ही होगी। अंदर ग्रे और लाल रंग की सीटें होंगी, जो बिल्कुल लेदर सीट वाला अनुभव दिलाएंगी। यही नहीं, इसमें पर्सनलाइज्ड रीडिंग लाइट्स, अटेंडेंट कॉल बटन्स, ऑन बोर्ड वाई-फाई और हर सीट पर यूएसबी चार्जिंग प्वॉइंट्स होंगे। आईसीएफ चेन्नई ने तेजस एक्सप्रेस के 23 कोच तैयार किए हैं, जिनमें से 18 एसी नॉन एग्जिक्यूटिव कोच, दो एसी एग्जिक्यूटिव कोच और तीन पावर कार्स हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App